Crime

कश्मीर में एनआईए ने आतंकवाद से जुड़ी चार और संपत्तियों को जब्त किया

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने गुरुवार को आतंकवादी संगठन हिजबुल-मुजाहिदीन (एचएम) के सदस्यों की चार और संपत्तियों को जब्त किया।एनआईए द्वारा यह कार्रवाई कश्मीर और देश अन्य हिस्सों में आतंकवादी संरचना को समाप्त करने के अपने अभियान के अंतर्गत जम्मू-कश्मीर में प्रतिबंधित जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) आतंकवादी संगठन के एक शीर्ष आतंकवादी की छह अचल संपत्तियों को जब्त करने के एक दिन बाद की गई है।

एनआईए के एक प्रवक्ता ने कहा कि जांच में पाया गया कि कुपवाड़ा में जब्त की गई चार संपत्तियां आतंकवादी गतिविधियों से अर्जित की गई थी।एनआईए ने कहा, ‘आतंकी साजिशों और आतंकवादी हमलों को अंजाम देने के लिए उपयोग की गई संपत्तियां आरोपी मोहम्मद आलम भट, मोहम्मद यूसुफ ख्वाजा, शब्बीर अहमद गखाड़, जाकिर हुसैन मीर की हैं और ये सभी पाकिस्तान स्थित हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडरों से जुड़े हुए है।’यूएपी कानून के तहत जब्त की गई चार संपत्तियों में कुपवाड़ा के करनाह इलाके में आलम भट और मोहम्मद यूसुफ ख्वाजा का एक-एक मकान समेत दो अचल संपत्तियां भी शामिल हैं। चल संपत्तियों के रूप में दो टाटा सूमो वाहनों दो को भी जब्त किया गया है।

एनआईए की जांच के अनुसार, भट और ख्वाजा के घरों का उपयोग आतंकी आश्रय, गोदाम और हथियार एवं गोला-बारूद का भंडारण और छिपाने के लिए किया जाता था।एनआईए ने कहा कि दोनों वाहनों का उपयोग हथियार और गोला-बारूद के सुरक्षित परिवहन के लिए किया जाता था। एनआईए ने फरवरी 2019 में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से भारत में हथियारों, गोला-बारूदों और मादक पदार्थों की आपूर्ति के लिए एचएम सदस्यों के खिलाफ यह मामला दर्ज किया था।एनआईए की जांच से पता चला कि चारों लोग आयुधों, हथियारों, गोला-बारूद और मादक पदार्थों की अवैध आपूर्ति में शामिल थे। वे कश्मीर में आतंकवाद फैलाने और उसे मजबूत करने में सक्रिय रूप से लगे हुए थे।एनआईए ने कहा कि इस मामले में आगे की जांच चल रही है। (वार्ता)

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: