NewsPoliticsState

दिल्ली चुनाव के वोटिंग प्रतिशत जारी होने में देरी पर चुनाव आयोग की सफाई

नई दिल्ली, फरवरी । दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की। मीडिया से बात करते हुए चुनाव आयोग ने कहा कि मतदान 62.59 प्रतिशत रहा जो कि पिछले लोकसभा चुनावों की तुलना में लगभग 2 प्रतिशत अधिक है। चुनाव ने बताया कि दिल्ली में इस बार 62.59 प्रतिशत वोट पड़ा है।

चुनाव आयोग के मुताबिक सबसे ज्यादा 71.6% वोट बल्लीमरान विधानसभा में पड़े और सबसे कम 45.4% वोट दिल्ली कैंट विधानसभा में पड़े। विधानसभा चुनाव में लोकसभा चुनाव की तुलना में 2 फीसदी ज्यादा वोटिंग हुई। वहीं कुल मत प्रतिशत जारी करने में हुई देरी पर चुनाव आयोग ने कहा कि सटीक आंकड़े इकट्ठा करने में समय लगता है। इसलिए आंकड़े आने में समय लगता है।

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने कहा है कि मतदान डेटा रिटर्निंग अधिकारियों की ओर से दिया जाता है जो कि रात भर व्यस्त थे। इसके बाद वो जांच में व्यस्त हो गए। इसमें थोड़ा समय लगा है लेकिन सटीक आंकड़े इकट्ठा करने के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है।
चुनाव आयोग ने बताया कि सबसे ज्यादा 71.6% वोट बल्लीमरान विधानसभा में पड़े और सबसे कम 45.4% वोट दिल्ली कैंट विधानसभा में पड़े। विधानसभा चुनाव में लोकसभा चुनाव की तुलना में 2 फीसदी ज्यादा वोटिंग हुई। गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा की वोटिंग खत्म हुए 17 घंटे से ज्यादा समय बीत जाने के बाद चुनाव आयोग ने द्वारा आखिरी कुल मत प्रतिशत जारी नहीं करने को लेकर विवाद खड़ा हो गया । दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ट्वीट जारी किया है। केजरीवाल ने एक ट्वीट को रिट्वीट करत हुए कहा है कि चौंकाने वाला। चुनाव आयोग क्या कर रहा है? मतदान के कई घंटे बाद भी उन्होंने मतदान के आंकड़े जारी क्यों नहीं किए?

Related Articles

Back to top button
Close
Close