State

अटल सुरंग – पूरे वर्ष मनाली को लाहौल घाटी से जोड़ेगी , दूरी भी होगी कम

बीआरओ लॉकडाउन का अच्छा उपयोग करते हुए अटल सुरंग के काम में डटा रहा है,इसे सितंबर 2020तक पूरा किया जाना है

नई दिल्ली । सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) द्वारा हिमाचल प्रदेश की पीर पंजाल श्रृंखला में रणनीतिक अटल सुरंग पर काम,जोकि निर्माण के महत्वपूर्ण चरण में है, को पूरा करने के लिए सक्रिय कदम उठाये जा रहे हैं। सड़क सतह कार्यों, लाइटिंग सहित इलेक्ट्रो-मेकैनिक फिटिंग्स,वेंटिलेशन एवं इंटेलीजेंट ट्रैफिक कंट्रोल प्रणालियों का निष्पादन किया जा रहा है। सुरंग के उत्तरी पोर्टल पर चंद्रा नदी पर 100मीटर लंबा एक स्टील सुपर स्ट्रक्चर पुल का कार्य भी निर्माणाधीन है। कोविड-19महामारी प्रकोप के कारण 10दिनों के लिए कार्य रोक दिया गया था।

बॉर्डर रोड्स के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह ने हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री  जय राम ठाकुर के समक्ष मामले को उठाया था। इसका परिणाम राज्य सरकार के सक्रिय समन्वयन में साइट पर श्रम के साथ 05अप्रैल, 2020को काम फिर शुरु हो गया। अटल सुरंग में कार्य कोविड-19की सभी आवश्यक सावधानियां बरतते हुए निष्पादित किए जा रहे हैं जिससे कि योजनानुसार सितंबर 2020में इसकी पूर्णता सुनिश्चित की जा सके।

अटल सुरंग का निर्माण इसलिए किया जा रहा है क्योंकि नवंबर और मई के बीच पूर्ण रूप से बर्फ से ढके रहने के कारण मनाली-सरचु-लेह मार्ग प्रत्येक वर्ष छह महीनों के लिए बंद रहता है। यह सुरंग पूरे वर्ष मनाली को लाहौल घाटी से जोड़ेगी और मनाली-रोहतांग दर्रा सरचु-लेह मार्ग की सड़क लंबाई को 46किलोमीटर तक कम कर देगी। सुरंग के जरिये लाहौल के लोगों को शेष भारत से जोड़ने के अतिरिक्त, यह सुरंग सुरक्षा बलों को आगे की कनेक्टिविटी के लिए एक प्रमुख रणनीतिक लाभ प्राप्त करने में सहायता करेगी।

 

 

 

 

 

 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close