NewsState

गंगा यात्रा को सफल बनाने हेतु 22 नोडल अधिकारी नामित

गंगा किनारे के चिन्हित 44 ग्राम सभाओं में कराए जाने वाले कार्यो की कार्ययोजना 17 जनवरी तक प्रस्तुत करें-जिलाधिकारी

गंगा यात्रा से संबंधित कार्य योजना के अनुसार प्रस्तावित कार्य 25 जनवरी तक विभागीय अधिकारी पूर्ण कराएं- कौशल राज शर्मा

वाराणसी, जनवरी । जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने मंगलवार को कैम्प कार्यालय सभागार में गंगा यात्रा से सम्बंधित बैठक के दौरान निर्देशित किया कि गंगा यात्रा के दौरान गंगा के किनारे पर स्थित 44 चिन्हित गांवो में ग्राम पंचायत, नगर निगम, शिक्षा, खेल, पशु चिकित्सा, पर्यटन, स्वास्थ्य तथा संस्कृति विभागों द्वारा कराये जाने वाले विभागीय कार्यों की कार्ययोजना दिनांक 17 जनवरी तक तैयार कर प्रस्तुत किया जाय। उन्होंने दिनांक 17 जनवरी से सभी विभागों को कार्ययोजना के अनुसार तेजी से कार्य कराकर 25 जनवरी तक पूर्ण कराने का भी निर्देश दिया।
जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि मुख्य विकास अधिकारी द्वारा 22 नोडल अधिकारी नामित किये गये हैं जो चिन्हित 44 गांवों में उक्त विभागों द्वारा कराये जा रहे कार्यों की निगरानी करेंगे। कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आगमन होगा तथा प्रधानमंत्री के आने की भी संभावना है। इसलिए सभी विभाग अपने से सम्बंधित कार्यों को समय से पूरा करायें। यात्रा के मूल उद्देश्य के अनुसार गंगा के प्रति लोगों में एक सामान्य जागरूकता की भावना जागृत की जा सके।
गंगा यात्रा वाराणसी में रजवाड़ी से प्रवेश करेगी और मार्ग में पांच स्थान डोमरी, रामनगर, अखरी, बच्छांव तथा करसड़ा चिन्हित किए गए हैं। जहां पर स्थानीय लोगों द्वारा स्वागत किया जायेगा तथा स्कूली बच्चों द्वारा ह्यूमन चेन में खड़े होकर स्वनिर्मित पोस्टर, झंडे आदि से गंगा यात्रियों का अभिवादन किया जायेगा। डोमरी, रामनगर में एक-एक तथा एक अन्य स्थान चिन्हित किया जा रहा है जहांं पर बड़ी जनसभा का आयोजन किया जाएगा। जिलाधिकारी ने पर्यटन विभाग को निर्देशित किया कि गंगा के किनारे पड़ने वाले गांवों के तट पर भी स्थानीय लोगों द्वारा गंगा आरती का कार्यक्रम आयोजित कराये। जिससे लोग धार्मिक आस्था के फलस्वरूप गंगा में गंदगी को डालना बंद करेंगे, गांव में खुले में शौच करने से बचेंगे, साफ सफाई का वातावरण बनेगा। 29 जनवरी को अस्सी घाट पर प्रात: 8 बजे योगा का कार्यक्रम होगा इसके पश्चात सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा तत्पश्चात् गंगा पूजन होगा। नगर निगम को निर्देश दिया कि घाटों पर गंगा में सीवर ओवरफ्लो का पानी, नालियों का पानी तथा किसी प्रकार का सालिड वेस्ट आदि किसी भी सूरत में न जाये इसकी कार्यवाही की फोटो उपलब्ध करायें। सफाई व्यवस्था तथा प्रकाश की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करायें । फाल्तू बैनर पोस्टर भी हटाने का निर्देश दिया। गांवों में पंचवटी, खेल का मैदान, गंगा चबूतरा, रेन वाटर हार्वेस्टिंग, तालाब, शौचालयों का 100% प्रयोग करवा कर ओडीएफ सुनिश्चित कराना आदि कार्य होने हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य मेले का आयोजन व स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करने का कार्य किया जायेगा। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि पशु आरोग्य मेला व गोवंश की योजनागत जानकारी उपलब्ध करायें। कृषि विभाग आर्गेनिक खेती की जानकारी तथा विभागीय योजनाओं का प्रचार-प्रसार करेगा।

02 फरवरी से प्रत्येक रविवार को मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला का जनपद में होगा वृहद आयोजन

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने 28 एवं 29 जनवरी को काशी आ रही गंगा यात्रा के दौरान विकासखंड चिरईगांव, काशीविद्यापीठ एवं चोलापुर के गंगा किनारे के चिन्हित 44 ग्राम सभाओं में 17 से 25 जनवरी तक बृहद स्वास्थ्य कैंप लगाए जाने का मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया है। इसके अलावा उन्होंने गंगा यात्रा को काशी पहुंचने पर 28 एवं 29 जनवरी को चिन्हित 5 ग्राम सभाओं में गंगा जागरूकता कार्यक्रम के दौरान भी इन ग्राम सभाओं में स्वास्थ्य कैंप लगाए जाने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने 02 फरवरी से प्रत्येक रविवार को मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला का वृहद आयोजन सुनिश्चित कराए जाने का मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने बताया कि शहरी क्षेत्र के सभी 24 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के अलावा जनपद के सभी आठ विकास खंडों के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं चिकित्सा उप केंद्रों पर बारी-बारी से मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला का आयोजन होगा।
जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि ने बताया कि इस प्रकार 02 फरवरी से अब प्रत्येक रविवार को जनपद के 32 स्थानों पर मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला का आयोजन होगा। जिसमें डायबिटीज, हाइपरटेंशन, मुख स्तन, सवाईकल कैंसर की प्रारंभिक जांच एवं परामर्श, आंख की जांच, त्वचा रोग, कुपोषित बच्चों का चीन्हिकरण तथा पोषण अभियान पर जानकारी, परिवार नियोजन एवं जन्म पंजीकरण परामर्श एवं सेवाएं, प्रधानमंत्री/मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना की जानकारी तथा गोल्डन कार्ड का वितरण एवं दवाओं का वितरण आवश्यकतानुसार सुनिश्चित कराया जाएगा। जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य शिविर में आने वाले रोगियों का रजिस्टर में पंजीकरण किए जाने पर विशेष जोर दिया। इसके लिए उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को एक कंट्रोल रूम भी स्थापित किए जाने का निर्देश दिया। ताकि स्वास्थ्य शिविर से संबंधित जानकारी एवं फोटोग्राफ्स तत्काल कंट्रोल रूम को प्राप्त हो सके। आयोजित होने वाले मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला में आने वाले मरीजों को बैठने एवं पीने के लिए पानी आदि की भी व्यवस्था कराए जाने हेतु उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया। जिलाधिकारी ने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि स्वास्थ्य मेला में प्रतिभाग करने वाले चिकित्साधिकारियों एवं स्वास्थ्य कर्मियों की लिखित रूप से ड्यूटी लगाते हुए उनका स्वास्थ्य मेला में निर्धारित समय से उपस्थिति प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराया जाए। इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close