Uttar Pradesh

फेसबुक पर पूछ रहे बिल्थरावासी-कब बनेगी सड़क !

कोई माननीय को कोस रहा तो कोई सरकार पर मढ़ रहा दोष

बलियाः पूर्वांचल के सबसे खराब सड़़कों मेें शुमार हो चुके बिल्थरारोड के चैकिया मोड़-मधुबन मार्ग की करीब साढ़े चार किलोमीटर की सड़क बनाने को लेकर क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि से लेकर राज्यसभा सांसद तक ने शासन व विभाग को पत्र लिखा। विभाग ने भी शासन को प्रस्ताव की प्रतिलिपि भेज अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर ली। बारिश का समय भी बीत गया। बावजूद अब तक सड़क निर्माण की जमीनी प्रक्रिया शुरु होना तो दूर इसके निर्माण की बात तक कोई नहीं कर रहा।

आलम यह है कि सड़क के गड्ढों की गहराई बढ़ती जा रही है और सड़क पर धूल का अंबार उड़ रहा है। राहगिरों व वाहन चालक हिचकोले तो खा ही रहे है, उनकी आंखे भी धूलधुसरित हो रही है। जिनके दर्द का कोई पुछवैया नहीं है। यही कारण है कि उक्त सड़क के निर्माण की मांग व शासन-प्रशासन का इसके प्रति चुप्पी को लेकर लोगों का गुस्सा अब सोशल साइट पर निकल रहा है। लोगों के दर्द की जुबां इन दिनों फेसबुक बन गया है। जहां उक्त सड़क की बदहाली के लिए कोई माननीय को कोस रहा है तो कोई सरकार पर इसका दोष मढ़ रहा है। जबकि एक वर्ग विभाग को ही पूर्ण रुप से जिम्मेदार मान रहा है। वहीं बड़ी संख्या में लोग उक्त सड़क के निर्माण की आवाज लगा रहे है।

यश जायसवाल शुभम ने तो टीवी चैनल की नकल करते हुए फेसबुक वाल पर सीधे लिखा है कि पूछता है बिल्थरारोड, कब बनेगी सड़क…, दवा व्यवसायी पन्ना लाल गुप्ता ने लिखा है कि हमारे क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों के अथक प्रयास से हमारे यहां के राज्य मार्ग को, भारत के सबसे खराब राज्य मार्ग का खिताब मिला है। सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष आद्याशंकर यादव ने अपने फेसबुक एकाउंट से बलिया डीएम से उक्त सड़़क को जनहित में बनवाने की मांग की है।

सपा नेता अंगद यादव ने भी फेसबुक पर लिखा कि चैकिया मोड़ से तेंदुआ चट्टी तक पीडब्ल्यूडी सड़क को बगैर भेदभाव का जनहित में इस मार्ग को अविलंब बनवाया जाएं वरना समाजवादी पार्टी सड़क बनाने के लिए आंदोलन का रास्ता अख्तियार करेगी। एमएलसी बलिया के क्षेत्रीय प्रतिनिधि रविशंकर सिंह पिक्कू ने लिखा है कि चैकिया मोड़ से तेंदुआ तक भाजपा का रामराज्य का सपना हुआ साकार, सबका साथ-अपना विकास। वहीं कुछ लोग इसके लिए भी पूर्ववर्ती सरकार को दोषी बता रहे है।

रामदरस निषाद ने तो यह भी आरोप लगाया कि यहां के जनप्रतिनिधि व सांसद कहते है कि हमें यहां कोई वोट नहीं दिया है, मोदी जी को वोट दिया है…। एक ने तो लिखा है कि बिल्थरारोड से अच्छा तो भागलपुर कस्बा है, जहां रोड बन रहा है। बावजूद कोई सुनने वाला नहीं है। मालूम हो कि बिल्थरारोड तहसील मुख्यालय की चैकिया मोड़ से मधुबन ढाला, तेंदुआ होते हुए अखोप के करीब तक करीब साढ़े चार किलोमीटर की सड़क पूरी तरह से गड्ढों में तब्दील हो चुकी है।

सड़क पर एक से डेढ़ फीट तक के गड्ढे हो गए है। जो बारिश होने पर झील में तब्दील हो जा रहा है। क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों ने विभागीय अधिकारी से लगायत शासन तक को कई बार पत्र भेजा। भाजपा के राज्यसभा सांसद सकलदीप राजभर ने भी इसके लिए विभाग व शासन को पत्र भेजा। इधर पीडब्ल्यूडी विभाग ने शासन को इसके लिए करीब 15 करोड़ का प्रस्ताव भेजा है किंतु अब तक इसे स्वीकृति नहीं मिल सकी है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close