National

हाथरस कांड पर हंगामा, पीड़िता के घर मीडिया समेत किसी को नहीं जाने दे रही पुलिस, TMC सांसदों को भी रोका

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित युवती से कथित गैंगरेप और मौत को लेकर जारी घमासान के बीच पुलिस ने रेप पीड़िता के गांव में पूरी तरह से किलेबंदी कर दी है और नेताओं से लेकर मीडिया की एंट्री को बैन कर रखा है। किसी भी नेता या मीडिया वालों को पीड़िता के घर तक जाने नहीं दिया जा रहा है। गुरुवार को राहुल गांधी, प्रियंका गांधी समेत कई कांग्रेसी नेता हाथरस जाने की कोशिश में थे, मगर पुलिस ने उन्हें भी नहीं जाने दिया। ठीक उसी तरह आज शुक्रवार को तृणमूल कांग्रेस के सांसदों को भी पुलिस ने गांव में प्रवेश करने से रोक दिया है। फिलहाल, हाथरस कांड के बाद से योगी सरकार और यूपी पुलिस विपक्ष के निशाने पर आ चुकी है।

इधर, लखनऊ में  सपा कार्यकर्ताओं का भी प्रदर्शन जारी है। इस दौरान उत्तर प्रदेश पुलिस ने मृतक पीड़िता के गांव को पूरी तरह से सील कर दिया है। हाथरस में धारा 144 लगा दी है। राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं को भी जाने से रोका जा रहा है। गांव में भी किसी को भी एंट्री नहीं दी जा रही है। हाथरस छावनी में तब्दील हो चुकी है। चप्पे-चप्पे पुर पुलिस का पहरा है। इधर, हाथरस कांड के विरोध में देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में समाजवादी पार्टी (सपा) के कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए हैं और सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। इधर, हाथरस जा रहे टीएमसी सासंदों के एक प्रतिनिधि मंडल को भी पुलिस ने गांव से बाहर ही रोक दिया है। समाचार के मुताबिक, टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन के नेतृत्व में पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल को हाथरस सीमा पर रोक दिया गया है। वे मृतका के परिवारवालों से मिलने जा रहे थे।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close