Uttar Pradesh

बाजार उजाड़े जाने से नाराज व्यापारियों ने किया प्रदर्शन, सौंपा ज्ञापन

ओबरा,सोनभद्र– स्थानीय ओबरा तापीय परियोजना प्रशासन द्वारा ओबरा बाजार में लगभग 40 वर्षों से बसी दुकानों को उजाड़े जाने का नोटिस दिए जाने से नाराज व्यपारियो ने बुधवार को थाने चौराहे पर जमकर विरोध प्रदर्शन किया।इस दौरान व्यपारियो ने मुख्यमंत्री के नाम सम्भोधित ज्ञापन कस्बा चौकी इंचार्ज कृष्ण अवतार सिंह को सौंपा।इस दौरान व्यपारियो ने बताया की अनाउंसमेंट कराकर नगर में ओबरा सी निर्माण बाउंड्रीवाल किए जाने के साथ ओबरा बाजार के किनारे बनी दुकानों को तोड़े जाने का नोटिस 16 सितंबर को दिया गया था जिसमें 7 दिनों में दुकान ना हटने की स्थिति में बलपूर्वक दुकानों को खाली कराए जाने की बात परियोजना प्रशासन द्वारा की गई है।व्यापार मंडल अध्यक्ष सुशील गोयल ने बताया कि ओबरा बाजार में सड़क के किनारे बनी दुकानें व्यापारियों की रोजी रोटी का एकमात्र साधन है।पूर्व में भी उक्त बाजार को बचाने के उद्देश्य से ओबरा सी परियोजना की बाउंड्री वाल अंबेडकर चौराहे से लेकर हनुमान मंदिर तक सड़क के किनारे से 15 फीट छोड़कर बनाए जाने का अनुरोध बार-बार किया जाता रहा है परंतु प्रशासन ने पहले तो 15 फीट छोड़कर बनाए जाने का आश्वासन दिया था परंतु वर्तमान समय में सड़क के किनारे छोड़ने से मना कर रहा है।कहा कि प्रशासन द्वारा व्यापारियों की दुकानों को तोड़ा गया तो सैकड़ों परिवार सड़क पर आ जाएंगे।सभी व्यापारी बंधुओं की समस्याओं को देखते हुए धरना-प्रदर्शन पर बैठने के लिए बाध्य होना पड़ेगा।जिसकी समस्त जिम्मेदारी परियोजना प्रशासन की होगी।मुख्यमंत्री को ज्ञापित पत्र ओबरा थाने पर कस्बा प्रभारी कृष्ण अवतार सिंह को देते हुए व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने बताया कि उक्त मामले पर सहानुभूति पूर्वक विचार करते हुए आवश्यक कार्रवाई करने की कृपा किया जाए जिससे व्यापारियों की रोजी रोटी कमाने का साधन सुरक्षित रहें।इस दौरान जिला उपाध्यक्ष व्यापार मंडल आलोक भाटिया, सुशील कुशवाहा, राजकुमार अग्रवाल, रमेश सिंह यादव, मिथिलेश अग्रहरि, पूरन पुरवार, भूतनाथ, राजेश जिंदल, बाबूलाल सोनकर, विनय सिंह पटेल, गिरीश पांडेय, सभासद मुन्ना देवी आदि उपस्थित रहे।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close