Uttar Pradesh

चोरों ने लाखों रुपए नकदी समेत जेवरातों पर किया हाथ साफ

मिर्जापुर ।  जिले के हलिया थाना क्षेत्र के ड्रमंडगंज बाजार व महुगढ़ी गांव में शनिवार देर रात चोरों ने लाखों रुपए नकदी समेत जेवरातों पर हाथ साफ कर दिया। थाना क्षेत्र के ड्रमंडगंज बाजार निवासी भगवती प्रसाद केसरी के मकान ऊपरी हिस्से के कमरे में चोरों ने छत पर चढ़कर कमरे में रखी अलमारी व बाक्स का लाक खोलकर आलमारी में रखे नकदी दो लाख अस्सी हजार पांच सौ रुपए तथा जेवरातों पर हाथ साफ कर दिया।

सुबह परिजन छत पर गये तो घर में रखी आलमारी खुली देखकर तथा सामान बिखरा पड़ा हुआ देखकर हक्के बक्के रह गए घटना की सूचना तत्काल स्थानीय पुलिस को दी। घटनास्थल पर मामले की जांच पड़ताल करने ड्रमंडगंज चौकी प्रभारी योगेन्द्र पांडेय पहुंचे तथा चोरी की घटना के संबंध में गृहस्वामी तथा परिजनों से पूछताछ की। गृहस्वामी के बेटे ज्ञानचंद केसरी ने दी गई नामजद तहरीर में बताया कि चोर ने अपने साथियों के साथ बीती रात सोने व चांदी के जेवरात सीतारामी,हार,माथबेदी, पांच नग अंगूठी,मंगल सूत्र,पायल पांच नग तथा नकदी रूपए दो लाख अस्सी हजार पांच सौ रुपए बाक्स व आलमारी में था ताला तोड़ कर चुरा ले गए तथा एक टच मोबाइल भी उठा ले गए हैं। पीड़ित ने चोर के विरुद्ध नामजद तहरीर देकर कार्रवाई की गुहार लगाई है।

वहीं ड्रमंडगंज बाजार की सीमा पर स्थित महुगढ़ी गांव निवासी चंद्रकली व राकेश बिंद के घर में भी चोरों ने नकदी समेत जेवरात व कपड़ों को पार कर दिया। इस संबंध में चंद्र कली ने ड्रमंडगंज चौकी में तहरीर देकर बताया कि शनिवार देर रात अटैची में रखा चांदी का पायल व सात हजार रुपए नकद चोर उठा ले गए भोर में नींद खुलने पर देखा तो ताला टूटा हुआ है एक हथौड़ा व छूरी कमरे में पड़ा हुआ है तथा बैंक जमा रूपए के कागजात फाड़ दिए हैं व घर में रखा मिट्टी का तेल भी गिरा दिए।महुगढ़ी निवासी राकेश बिंद ने नामजद चोर के विरुद्ध तहरीर दी है दी गई तहरीर में बताया कि बीती रात लगभग तीन बजे बहू के पैर से पायल उतार लिया और घर में रखे मोबाइल व बैग में रखा दो सौ रुपए नकद चुरा कर भाग रहा था कि बहू की नींद खुल गई बहू ने शोर मचाया तो चोर धक्का देते हुए भाग निकला। राकेश बिंद ने नामजद तहरीर देकर चोर के विरुद्ध कार्रवाई की गुहार लगाई है चोरी की ताबड़तोड़ घटनाओं से लोगों में हड़कंप मच गया है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close