Politics

न रण होगा न रन होगा, यह कैसी कांग्रेस है : संबित पात्रा

राहुल के बयान पर भाजपा का पलटवार

नई दिल्ली । ईडी द्वारा बुधवार को नेशनल हेराल्ड का दफ्तर सील करने पर कांग्रेस ने भाजपा को जमकर आड़े हाथों लिया था। आज भाजपा ने इसे लेकर कांग्रेस व गांधी परिवार पर जमकर पलटवार किया। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, ‘कांग्रेस नेता कह रहे हैं याचना नहीं रण होगा। पहले कहते थे कि सत्याग्रह होगा और अब रण की बात कर रहे हैं। अब न रण होगा न ‘रन’ होगा।’

पात्रा ने सवाल किया कि आखिर कांग्रेस चाहती क्या है? क्या देश के कानून से उसे रण करने की जरूरत है? नेशनल हेराल्ड केस में बुधवार को ईडी ने यंग इंडिया लिमिटेड के दफ्तर को सील कर दिया था। इस कंपनी पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी की हिस्सेदारी है।

कांग्रेस खुद को कानून से ऊपर मान रही

दफ्तर सील किए जाने से कांग्रेस केंद्र सरकार व भाजपा पर भड़क गई है। पार्टी ने सरकार को ‘रण’ की चुनौती दी है। कांग्रेस ने ईडी की कार्रवाई के बाद कहा था ‘अब याचना नहीं रण होगा।’ इस पर पलटवार करते हुए पात्रा ने कहा कि कांग्रेस खुद को कानून से ऊपर मान रही है। उन्होंने ने कहा कि देश के कानून से इन्हें रण करने की क्या जरूरत है। अब न रण होगा न ‘रन’ (भागना या फरार होना) होगा। मामले में कानून के अनुसार ही कार्रवाई होगी।

पात्रा ने सवाल किया कि कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे पार्टी के दफ्तर पहुंचे तो ईडी की कार्रवाई रुकवाने नेशनल हेराल्ड के दफ्तर क्यों नहीं पहुंचे? कांग्रेस यह कार्रवाई रुकवाने कोर्ट क्यों नहीं गई? पात्रा ने कहा कि वह इसीलिए नहीं गई क्योंकि वह जानती है कि कोर्ट कहेगी कि कार्रवाई नियम के अनुसार हो रही है। हम इस केस में कांग्रेस को भागने नहीं देंगे।

राहुल ने क्यों नहीं बताया कि वे यंग इंडियन के निदेशक हैं ?

भाजपा प्रवक्ता ने सवाल किया, ‘मैं राहुल गांधी से पूछता हूं कि आप इतने साफ सुथरे थे तो वर्ष 2010 में यह क्यों नहीं बताया कि आप यंग इंडियन कंपनी के निदेशक हैं। पात्रा ने कहा कि देश का कानून तो सबके लिए समान है, लेकिन कांग्रेस एक परिवार को इससे ऊपर मानती है। इस परिवार को बचाने के लिए कांग्रेस सड़क पर उतरने की तैयारी में है।

सरकार सिर्फ कांग्रेस को बदनाम करना चाहती है : खड़गे

उधर, वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि ईडी की कार्रवाई का पूरा मामला राजनीतिक बदले की भावना का है। हम इस पर कुछ कहना नहीं चाहते। निष्पक्ष जांच होनी चाहिए, लेकिन उनकी कोशिश यही है कि कांग्रेस को बदनाम किया जाए। भाजपा के विरोधी दलों को खत्म किया जाए।(वीएनएस)

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: