Breaking News

काशी के विकास के लिए पैसे की कमी नहीं – मुख्यमंत्री

blankवाराणसी में विकास के कीर्तिमान बन रहे हैं- मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश

1222 करोड़ रुपए के प्रमुख बड़े विकास कार्य और पूर्ण हुए

हजारों रुपए के विकास कार्य निर्माणाधीन है तथा सैकड़ों करोड़ रुपए के कार्य और शीघ्र प्रारंभ होंगे

काशी में सेवा करना सौभाग्य की बात है, चाहे प्रशासनिक क्षेत्र हो, पुलिस हो या जनसेवा हो

काशी प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र है, इसका देश दुनिया में अलग महत्व है

पूरा काशी हमेशा जगमग रहे- योगी आदित्यनाथ

हर गांव में खेल का मैदान विकसित किया जाए – मुख्यमंत्री

2 फरवरी से हर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर लगेगा आरोग्य मेला- मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने समस्त विभाग को अपने कार्य समयबद्ध, गुणवत्ता से सुरक्षा मानकों सहित पूर्ण करने के निर्देश दिए

वाराणसी दिसम्बर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दो दिवसीय वाराणसी भ्रमण के दौरान शुक्रवार को सर्किट हाउस सभागार में जनपद में गतिमान प्रमुख बड़ी परियोजनाओं एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा की।
     मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि काशी में सेवा करना सौभाग्य की बात है। बनारस में अभूतपूर्व कार्य हुए हैं। 1222 करोड़ के बड़े प्रमुख 48 कार्य और पूर्ण हो चुकी हैं। जिसमें बीएचयू में सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, वैदिक विज्ञान केंद्र, राजातालाब विद्युत उपकेंद्र, 20 प्रमुख सड़कों के निर्माण कार्य, चिकित्सालयों के उच्चीकरण कार्य आदि कार्य हैं। इसके अतिरिक्त हजारों करोड़ रुपए के विकास कार्य निर्माणाधीन है जो वर्ष 2020 में पूर्ण हो जाएंगे। काशी में विकास की अविरल धारा चलती रहेगी। जिसमें सैकड़ों करोड़ रुपए के कार्य और शीघ्र प्रारंभ होंगे। काशी के विकास के लिए पैसे की कोई कमी नहीं है। टीम भावना से समयबद्ध,  गुणवत्ता से कार्य को पूर्ण करें।
    योगी आदित्यनाथ ने कहा कि काशी को देश-दुनिया के लिए अच्छा रोल मॉडल के रूप में प्रस्तुत करें। पूरे काशी को ध्यान में रखकर स्मार्ट सिटी सहित ऐसी प्लानिंग करें कि जिसमें हर बुनियादी सुविधा हो। 10 वर्ष तक सड़क, पानी, बिजली जैसी कोई दिक्कत नहीं हो। मुख्यमंत्री ने बाबा काल भैरव के रास्ता व आसपास को विस्तारित करने का सुझाव दिया। हर गांव में खेल का मैदान विकसित किया जाए। 15 दिन में काशी की सभी सड़क के संबंधित विभाग ठीक कर ले। काशी में विद्युत व्यवस्था का अच्छा कार्य हुआ है। 2 फरवरी, 2020 से प्रदेश के समस्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर प्रत्येक रविवार को आरोग्य मेला 2 वर्षों तक लगेंगे। जिसमें सरकारी, गैर सरकारी डॉक्टर उपस्थित होंगे। पशु आरोग्य मेला से पशुपालकों को जानकारी के साथ निशुल्क पशुओं का उपचार हो रहा है। प्राइमरी स्कूलों में बाउंड्री वॉल, ओपन जिम, भूगर्भ जल संरक्षण के कार्य तेजी से कराएं। गौ संरक्षण योजना साफ-सुथरी है। जन सहयोग व अन्य अंतर विभागीय समन्वय से व्यवस्था ठीक रखें। लोग पराली जलाते हैं, इसका उपयोग गौशालाओं में करें। केंद्र सरकार की योजना से खुरपका, मुंहपका टीकाकरण योजना लागू है।
    मुख्यमंत्री ने संपूर्ण स्वच्छता पर जोर देते हुए कहा कि काशी को ऐसा स्वच्छ बनाएं कि यहां आने वाला धार्मिक श्रद्धालु व पर्यटक काशी में घुसते ही स्वच्छता को महसूस करें। जब आमजन प्रशंसा करते हैं, तभी कार्य सही है। काशी को देश का रोल मॉडल बनाएं। कहीं भी कूड़ा नहीं जलना चाहिए।
    आयुष्मान भारत में काशी में 24000 से अधिक लोगो का निशुल्क इलाज हुआ। जिसका 28  करोड़ रुपए भुगतान भी हो चुका है। बनारस में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में 189000 किसानों को धनराशि भेजी जा चुकी है बनारस में सभी 1780 मुसहरों को प्रधानमंत्री आवास दिए गए। बनारस शहर, रामनगर, गंगापुर में 24417 लोगों को प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत हुए।
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि किसी भी कार्यदायी संस्था, ठेकेदार के कारण कोई कार्य प्रभावित होता है। काशी के लोग पेयजल, सीवर, सड़क रोशनी आदि से परेशान हुए तो संबंधित विभाग व ठेकेदार के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी। इसमें एफआईआर दर्ज कर जेल भेजने तक की कार्यवाही होगी। सीस वरुणा में गड़बड़ी पर ठेकेदारों को भी कार्यवाही में सम्मिलित करने का निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास एवं कल्याणकारी कार्यों की साप्ताहिक, पाक्षिक समीक्षा उच्चाधिकारी स्तर पर की जाए। वरुणा में सीवर किसी दशा में नहीं जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने एक माह में व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
   कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने जनपद में गतिमान परियोजनाओं का पावर प्रजेंटेशन के माध्यम से प्रस्तुतीकरण किया।
   बैठक में नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, पर्यटन एवं धर्मार्थ कार्य राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉक्टर नीलकंठ तिवारी, स्टांप एवं पंजीयन शुल्क राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार रविंद्र जायसवाल, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह, एड़ीजी बृजभूषण, आईजी विजय सिंह मीणा, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा, प्रबंध निदेशक पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड बालाजी, नगर आयुक्त गौरांग राठी, मुख्य विकास अधिकारी मधुसूदन हुलगी सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close