State

फर्जी गुरुजनों की गिरफ्तारी हेतु छापामारी तेज,बलिया पहुंची मिर्जापुर की क्राइम ब्रांच टीम

207 अभियुक्तों में अब तक तीन को पुलिस ने दबोचा

विजय बक्सरी

बलियाः फर्जी तरीके से शिक्षक बनने की जुगत करने वालों की तलाश में शनिवार को मिर्जापुर से क्राइम ब्रांच की पुलिस टीम बलिया पहुंची और नामजद फर्जी शिक्षक अभियर्थियों की गिरफ्तारी हेतु देर शाम तक छापामारी की। हालांकि देर रात तक पुलिस को कई सफलता तो हाथ नहीं लगी किंतु नामजद शिक्षक अभ्यर्थियों के बीच हड़कंप मच गया। उक्त अभियान के तहत बलिया पहुंचे मिर्जापुर क्राइम ब्रांच प्रभारी श्याम बिहारी ने बताया कि बलिया जनपद के विभिन्न थाना क्षेत्र के सात शिक्षक अभ्यर्थी मामले में नामजद अभियुक्त है। जिनकी गिरफ्तारी होने तक क्राइम ब्रांच की टीम बलिया में ही रहेगी। बलिया जनपद के जयरानी पुत्री ललन राजभर थाना नगरा निवासी, पुष्पा आर्या पुत्री मुन्नर राम थाना बांसडीहरोड, सतीश कुमार पुत्र श्यामदेव ग्राम टंगुनिया उभांव, राकेश कुमार पुत्र जिउत प्रसाद ग्राम रतसर गड़वार, विवेक कुमार राव पुत्र कृष्णा राव ग्राम पिपराकलां खेजुरी, सतीश चैहान पुत्र रामलोचन ग्राम हरसेनपुर नगरा एवं आदित्य सक्सेना पुत्र किशुन ग्राम लहसनी थाना नगरा निवासी समेत सात नामजद अभियुक्त शामिल है। उभांव थाना इंस्पेक्टर योंगेंद्र बहादुर सिंह के साथ क्राइम ब्रांच पुलिस टीम द्वारा शनिवार को क्षेत्र में जमकर छापामारी हुई। हालांकि अभियुक्त अभी पुलिस की पकड़ से दूर है। मालूम हो कि राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में रिक्त सहायक अध्यापक/अध्यापिकाओं के पदों पर भर्ती वर्ष 2014 के अंतर्गत गतिमान नियुक्ति प्रक्रिया अंतर्गत अभ्यर्थियों के शैक्षिक अभिलेखों के सत्यापन में पुरुष 119 व महिला शाखा में 88 समेत कुल 207 फर्जी अभ्यर्थी पाए गए। जिनके खिलाफ विध्यांचल मंडल मिर्जापुर की संयुक्त शिक्षा निदेशक श्रीमती माया निरंजन के निर्देश पर मिर्जापुर शहर कोतवाली में 27 मार्च 2016 को कांड सं. 383/16 के तहत 419, 420, 467, 468 व 471 भादवि के तहत नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है। जिसकी तफ्तीश क्राइम ब्रांच द्वारा की जा रही है और 17 जून से फर्जी अभियुक्त गुरुजनों की गिरफ्तारी हेतु अभियान जारी है। जिसके तहत वाराणसी में शशिकलां व रंजू कुमारी एवं कौशाम्बी से शब्बीर सिंह समेत तीन की अब तक गिरफ्तारी हो चुकी है। बलिया जनपद के जयरानी, पुष्पा आर्या, सतीश कुमार, राकेश कुमार, विवेक कुमार राव, सतीश चैहान एवं आदित्य सक्सेना समेत सात नामजद अभियुक्त शामिल है। जिनकी गिरफ्तारी होने तक क्राइम ब्रांच की टीम बलिया ही रहेगी और लगातार छापामारी व घेराबंदी के तहत अभियुक्तों को साथ लेकर ही टीम लौटेगी। जिससे शिक्षा विभाग में हड़कंप सा मचा हुआ है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close