National

जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति को सख्ती से लागू करें : शाह

नयी दिल्ली : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति को सख्ती के साथ लागू करने का निर्देश दिया है।श्री शाह ने बुधवार को यहां जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा स्थिति और विकास पहलुओं पर समीक्षा बैठक मैं यह बात कही। उन्होंने सुरक्षा ग्रिड के कामकाज और सुरक्षा से सम्बंधित सभी पहलुओं की विस्तृत समीक्षा की और आतंकवाद के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति का पालन करने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

गृह मंत्री ने कहा कि आम आदमी के हितों की रक्षा के लिए यह जरूरी है कि आतंकवादी-अलगाववादी अभियान को सहायता, बढ़ावा देने और बनाए रखने वाले तत्वों तथा आतंक के पारिस्थितिकी तंत्र को नष्ट किया जाए।बैठक के दौरान उन्होंने केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में चल रहे विभिन्न विकास कार्यों की भी समीक्षा की और परियोजनाओं को समय पर पूरा करने पर जोर दिया। उन्होंने अधिकारियों को विभिन्न योजनाओं के तहत लाभार्थियों की सो फ़ीसदी संतुष्टि के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रयास करने और समाज के हर वर्ग तक विकास के लाभों को सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

बैठक में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल श्री मनोज सिन्हा, केंद्रीय गृह सचिव, निदेशक (आईबी), रॉ प्रमुख और भारत सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों सहित केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के अधिकारियों ने भाग लिया।श्री शाह ने एक अन्य बैठक में लेह और लद्दाख में सुरक्षा की स्थिति तथा विकास परियोजना की भी समीक्षा की।

शाह ने जम्मू कश्मीर में स्थिति की समीक्षा की

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को यहां एक उच्च स्तरीय बैठक में जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा की स्थिति तथा विकास परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की।जम्मू में आज ही सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में चार आतंकवादियों के मारे जाने के बीच हुई बैठक को महत्वपूर्ण माना जा रहा है।गृह मंत्री ने एक अलग बैठक में केन्द्र शासित प्रदेश लेह- लद्दाख से संबंधित परियोजनाओं तथा वहां सुरक्षा की स्थिति का भी जायजा लिया।

गृह मंत्रालय में हुई इन उच्च स्तरीय बैठकों में दोनों केन्द्र शासित प्रदेशों के उप राज्यपालों, केन्द्रीय गृह सचिव अजय भल्ला और मंत्रालय तथा सुरक्षा एजेन्सियों के वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया।बैठकों में दोनों केन्द्र शासित प्रदेशों के सुरक्षा हालातों पर विशेष रूप से चर्चा की गयी। इसके अलावा विकास परियोजनाओं तथा कोविड संक्रमण के बढने की आशंकाओं से उत्पन्न स्थिति पर भी विचार विमर्श किया गया।उल्लेखनीय है कि आज ही जम्मू के बाहरी इलाके में सिधरा के पास सुरक्षाबलों और आतंकवादियाें की बीच हुई मुठभेड़ में चार आतंकवादी मारे गए। मुठभेड़ स्थल से अत्याधुनिक हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया है।(वार्ता)

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: