State

सिगरा साजन तिराहा-रथयात्रा मार्ग बनेगा शहर का मॉडल सड़क

कमिश्नर ने निर्माणाधीन परियोजनाओं के प्रगति की समीक्षा की

गतिमान एवं निर्माणाधीन परियोजनाओं को युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर समय से पूर्ण कराए जाय- दीपक अग्रवाल

वाराणसी , जनवरी । कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने जनपद में गतिमान एवं निर्माणाधीन परियोजनाओं को युद्धस्तर पर अभियान चलाकर मानक के अनुरूप गुणवत्ता के साथ निर्धारित समय अवधि में पूरा कराए जाने हेतु कार्यदायी संस्थाओं के अभियंताओं को निर्देशित किया। उन्होंने 15 फरवरी तक पूर्ण हो चुके तथा शुरू होने योग्य परियोजनाओं की सूचना 15 जनवरी तक उपलब्ध कराए जाने का भी विभागीय अभियंताओं को निर्देशित किया। वाराणसी शहर की यातायात एवं जाम की समस्या से लोगों को निजात दिलाए जाने हेतु नरिया से लहरतारा एवं नदेसर से रविंद्रपुरी तक बनाए जाने वाले फ्लाईओवर के प्रस्ताव पर भी उन्होंने चर्चा की। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुरूप वाराणसी शहर में मॉडल सड़क बनाए जाने के लिए नगर आयुक्त को लोक निर्माण विभाग, जलकल, जल निगम, विद्युत, गेल, रिलायंस सहित अन्य टेलीकॉम कंपनियों से समन्वय कर ऐसे सड़क चिन्हित करने का निर्देश दिया जिन पर अंडर ग्राउंड कराए जाने वाले सभी कार्य पूर्ण हो चुके हैं। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि जिन सड़कों पर किये जाने वाले सभी अंडर ग्राउंड कार्य कराए जा चुके होंगे, इन सड़कों को शहर की मॉडल सड़क के रूप में विकसित किया जाएगा।
कमिश्नर दीपक अग्रवाल शुक्रवार को कमिश्नरी सभागार में वाराणसी जनपद में गतिमान एवं निर्माणाधीन परियोजनाओं के प्रगति की समीक्षा बैठक कर रहे थे। मॉडल सड़क बनाए जाने की चर्चा के दौरान सिगरा साजन तिराहा से रथयात्रा मार्ग को मॉडल सड़क के रूप में बनाए जाने पर संबंधित विभागीय अधिकारियों ने सहमति जताते हुए बताया कि इस सड़क पर किए जाने वाले सभी अंडर ग्राउंड कार्य कराए जा चुके हैं। कमिश्नर ने नगर आयुक्त को संबंधित सभी विभागीय अधिकारियों से चर्चा कर लिखित रूप से अंडरग्राउंड कार्य कराए जाने संबंधी रिपोर्ट प्राप्त किए जाने का निर्देश दिया। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि मॉडल सड़क का निर्माण इसी वित्तीय वर्ष में पूरा कराया जाएगा। मॉडल सड़क रोडसाइड फर्नीचर, लाइट, फुटपाथ, साइनेज एवं डस्टबिन आदि से सुसज्जित होगा। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने निर्माणाधीन चौकाघाट- लहरतारा फ्लाईओवर का कार्य 31 जनवरी तक पूर्ण होने के तत्काल बाद वहां से मलवा आदि हटाए जाने का निर्देश दिया। उन्होंने चौकाघाट-लहरतारा फ्लाईओवर के नीचे के भूखंड को पार्किंग, फूड प्लाजा, फूल प्लाजा, हैंडीक्राफ्ट से संबंधित जोनवार सेल प्वाइंट विकसित किए जाने पर विशेष जोर दिया। इसके साथ ही उन्होंने चौकाघाट-लहरतारा फ्लाईओवर के नीचे वाकिंग जोन बनाए जाने पर भी जोर देते हुए कहा कि स्मार्ट सिटी के लिए यह एक आकर्षक पॉइंट होगा। चौकाघाट पुल के लगने वाले मछली मंडी को भी शिफ्ट किए जाने हेतु विचार किया जाएगा। रामनगर स्थित लाल बहादुर शास्त्री चिकित्सालय के उच्चीकरण कार्य की धीमी प्रगति पर भी उन्होंने गहरी नाराजगी जताई तथा समय से कार्य पूर्ण होने की जानकारी पर शासन स्तर पर इसे अवगत कराए जाने का निर्देश दिया। शहरी गैस वितरण परियोजना की समीक्षा के दौरान शहर के 4000 ऑटो रिक्शा सीएनजी में कन्वर्ट हो जाने की जानकारी पर उन्होंने शेष बचे 1200 ऑटो रिक्शा को शीघ्र सीएनजी में कन्वर्ट कराए जाने का निर्देश दिया। 3000 घरों में गैस पाइपलाइन की आपूर्ति शुरू हो चुकी है। जबकि 17050 घरों में जीआई लाइन इंफ्रास्ट्रक्चर का कार्य पूर्ण हो चुका है। कुल 47 किलोमीटर स्टील पाइप लाइन व 208 किलोमीटर एमडीपीइ पाइप लाइन का कार्य पूर्ण हो चुका है। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने गंगा में चलने वाले सभी मोटर बोट को सीएनजी में कन्वर्ट कराए जाने हेतु 15 जनवरी तक आईएमयू साइन किए जाने हेतु गेल के अधिकारी को निर्देशित किया। उन्होंने बताया कि एक मोटरवोट में सीएनजी किट लगाए जाने पर लगभग दो लाख रुपए आएंगे। जिसका वहन सीएसआर से गेल द्वारा किया जाएगा। संबंधित मोटरबोट मालिक को ब्याज का मात्र 30 हजार रुपए 3 साल में किस्तों में देने होंगे।
शाही नाला सफाई कार्य के प्रगति की समीक्षा के दौरान जलनिगम के गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई के अभियंता द्वारा अप्रैल तक कार्य पूर्ण कराए जाने की जानकारी पर कमिश्नर भड़क पड़े। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि मार्च, 2020 तक कार्य को पूरा कराए जाने हेतु विभाग द्वारा आश्वासन मिला था और अब अप्रैल तक का समय मांगा जा रहा है। स्पष्ट है कि गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई कार्य के प्रति गंभीर नहीं है। जबकि पूरा प्रकरण शासन स्तर से मानीटरिंग की जा रही है। वैसे भी शाही नाला का कार्य गत वर्ष ही पूरा कराए जाने का समयसीमा रहा। यह कार्य 1 वर्ष पीछे चल रहा है। 1 वर्ष से कार्य पीछे चलने तथा गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई के अभियंताओं द्वारा बार-बार कार्य पूरा कराए जाने हेतु समय बढ़ाने की जानकारी पर जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा भी भड़क पड़े और उन्होंने विभागीय अभियंता से कार्य को समय से पूरा न कराए जाने के बाबत आ रही समस्या के बाबत जानकारी की। गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई के अभियंता द्वारा 27 स्थानों पर चिन्हित मैनहोलो मकानों के अंदर होने की जानकारी दिए जाने पर जिलाधिकारी ने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि क्षेत्रीय मजिस्ट्रेट के माध्यम से विभागीय अभियंता समन्वय कर संबंधित भवन स्वामियों से वार्ता कर इन मेंनहोलो के माध्यम से कराए जाने वाले सफाई कार्य को कराएं। जिलाधिकारी ने विभागीय अभियंता को प्रत्येक दशा में निर्धारित समय अवधि में ही शाही नाला की सफाई कार्य को पूरा कराए जाने की सख्त हिदायत दी। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने स्मार्ट सिटी के अंतर्गत कराए जा रहे कार्यों की भी समीक्षा की। उन्होंने शहर में लगने वाले सर्विलांस कैमरा को शीघ्र लगवाए जाने हेतु निर्देशित किया। स्मार्ट सिटी योजना अंतर्गत कराए जा रहे कार्यों में गति लाए जाने पर उन्होंने विशेष जोर देते हुए कहां की औपचारिकताएं शीघ्र पूर्ण की जाए। जिससे कार्य समय से पूरा कराया जा सके।
बैठक में जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा, उपाध्यक्ष विकास प्राधिकरण राहुल पांडे, नगर आयुक्त गौरांग राठी, सीईओ स्मार्ट सिटी विक्रमादित्य सहित सभी कार्यदायी संस्थाओं के अभियंता प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button