CrimeUttar Pradesh

अपहृत युवक की नौ दिनों बाद पुलिस ने बरामद किया शव

विंध्याचल कोतवाली के कामापुर ससुराल आते समय हुआ था अपहरण ,कुशियरा फाल जंगल में मिला शव ,पुलिस ने अपहर्ताओं को दबोचा .

मिर्जापुर । जिले के विंध्याचल कोतवाली क्षेत्र के कामापुर कला गांव में ससुराल पहुंचने के पहले कुछ ही दूरी पर घोड़ाटाप पहाड़ी से अपहृत युवक का शव शुक्रवार की शाम चार बजे मडि़हान थाना क्षेत्र के विढंमफाल में बरामद किया। इस संबंध में प्रयागराज जिले के हंड़िया थाने में युवक के परिजन ने अज्ञात लोगों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कराया था। हंड़िया थाना क्षेत्र के भिदिउरा गांव निवासी विजय पाल (32) पुत्र नंदलाल पाल की ससुराल विंध्याचल थाना क्षेत्र के कामापुर कला गांव में है। वह बीते एक अक्तूबर को अपने घर से बिना किसी को कुछ बताए ही निकला था। हलकान परिजनों ने हंडिया थाने में अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। इस बीच दो अक्तूबर को विजय पाल ने अपने भाई के मोबाइल पर काल कर अपने बैंक एकाउंट में 10 हजार रुपए जमा करने, दो दिनों में एक लाख रुपए जमा करने को कहा। साथ ही भाई को यह भी बतायाकि एक लाख रुपये नहीं जमा करने पर उसकी हत्या कर दिए जाने की बात कही। भाई ने तत्काल दस हजार जमा कर दिया। एक घंटे के अंदर उसके ए टी एम से पैसा निकाल भी लिया गया। परिजनों ने एक लाख रुपए के लिए कुछ मोहलत मांगा। भाई से बातचीत के दौरान विजय पाल ने दबी जुबान में बताया था कि उसका कुशियरा फाल जंगल के पास अपहरण हो गया है। परिजनों ने सात अक्तूबर को एक लाख रुपए लेने के लिए मिर्जापुर शहर स्थित शास्त्री ब्रिज के पास पैसा लेने के लिए बुलाया। इस दौरान कुशियरा से रजबंधा पहाड़ी पर पुलिस-पीएसी दो दिनों से लगातार कांबिंग कर रही थी। शास्त्री ब्रिज के पास हंडिया पुलिस ने जाल बिछाकर अपहर्ता कामापुर कला निवासी शैलेन्द्र उर्फ पिंटू को दबोच लिया। जबकि बाइक चला रहा उसका साथी भाग निकलने में कामयाब रहा। इस मामले में कई अन्य थानों की पुलिस एलर्ट थी। शुक्रवार की दोपहर में अपहर्ता की पत्नी बबिता को उसके भांजे के साथ मड़िहान थाने की पुलिस ने दबोच लिया। कड़ाई से पूछताछ में उसकी पत्नी ने विंढमफाल से शव बरामद करा दिया। युवक की प्लेटिना बाइक भी बरामद हो गई। विंध्याचल थाना प्रभारी शेषधर पांडेय ने बतायाकि अपहर्ता को कब्जे मे रखा गया है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close