State

पटना -थोड़ी छूट के साथ मिलेगी राहत

बिहार के 26 जिलों में कोरोना के एक भी केस नहीं,20अप्रैल से खुलेंगे कई कार्यालय

अजीत मिश्र

पटना।कोरोना महामारी के चलते दुनियां भर के लोगों की जान सांसत में है।कई देश लॉक डाउन का सामना कर रहे हैं।हमारे यहां भी देशभर में 21 दिन से जारी लॉकडाउन को 19 दिन और बढ़ा दिया गया है। यानी 3 मई तक लोगों को अपने घरों में रहना होगा। हालांकि सरकार के प्रतिनिधियों द्वारा कहा जा रहा है कि 20 अप्रैल से कुछ जरूरी क्रिया कलापों में सरकार की ओर से थोड़ी छूट दी जाएगी।
बताया जाता है कि छूट वहां मिलेगी, जहां कोरोना का एक भी केस नहीं है या उन इलाकों में बीमारी फैलने की उम्मीद नहीं के बराबर है।जानकारी के अनुसार बिहार के 26 जिले ऐसे हैं जहां विगत दिनों तक कोरोना का कोई संक्रमित मरीज नहीं मिला है। ऐसा ही रहा तो इन जिलों में 20 अप्रैल के बाद राहत मिल सकती है।
सरकारी सूत्रों के अनुसार बिहार के 27 जिले ग्रीन जोन में बताये जाते हैं।जिनमें प.चंपारण, पू.चंपारण, शिवहर, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, वैशाली, समस्तीपुर, दरभंगा, मधुबनी, सुपौल, मधेपुरा, सहरसा, खगड़िया, पूर्णिया, अररिया, किशनगंज, कटिहार, बांका, जमुई, शेखपुरा, जहानाबाद, अरवल, औरंगाबाद, रोहतास, कैमूर, और आरा जिले में कोरोना को कोई रोगी नहीं मिला है। 20 अप्रैल तक अगर इन जिलों में कोरोना का मरीज नहीं मिलता है तो यहां राहत मिल सकती है। राज्य के आठ जिले ऑरेंज जोन में हैं। गोपालगंज, सारण, पटना, नालंदा, गया, लखीसराय, मुंगेर और भागलपुर में कोरोना के मरीज मिले हैं। वहीं, सीवान, बेगूसराय और नवादा जिले को रेड जोन में रखा गया है। ऑरेंज और रेड जोन के जिलों में संक्रमण रोकने के लिए कड़ाई से लॉकडाउन का पालन कराया जा रहा है। यहां संक्रमण की स्थिति के अनुसार राहत मिलने की उम्मीद है।अगर ऐसा होता है तो कई हफ्तों से घरों में बंद जनता को बड़ी राहत मिलेगी।हालाकि राहत वाले इलाकों में भी सोशलडिस्टेंसी का पालन हर हाल में करना होगा क्योंकि बीमार के फैलाव को रोकने हेतु हमारे पास यही एकमात्र अंतिम विकल्प है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close