EducationUttar Pradesh

उत्तर प्रदेश के सरकारी प्राइमरी स्कूलों में लागू होगा NCERT पाठ्यक्रम

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सरकारी स्कूलों के बच्चे अब अगले शैक्षिक सत्र (2021-22) से एनसीईआरटी की किताबें पढ़ेंगे। यूपी के प्राथमिक शिक्षा मंत्री सतीष चंद्र द्विवेदी ने मंगलवार को बताया कि पहली कक्षा से 8वीं तक एनसीईआरटी की किताबें चरणबद्ध तरीके से 2021 से  2022 तक लागू की जाएंगी।

पहले चरण में एनसीईआरटी की किताबें 2021-22 में पहली कक्षा में शुरू की जाएंगी। इसके बाद 2022-23 में कक्षा 2 और 3 में। कक्षा 4 और 5 में 2023-24 से और फिर अगले सत्र (2024-25) में 6वीं कक्षा से 8वीं तक एनसीईआरटी की किताबें शुरू की जाएंगी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों के बाद राज्य के प्राथमिक व उच्चप्राथमिक सरकारी स्कूलों में एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम लागू करने का फैसला किया गया है।

शिक्षामंत्री द्विवेदी ने कहा, ‘हमने स्कूलों में नेशनल काउंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग (NCERT) पाठ्यक्रम पर आधारित किताबें प्राथमिक व उच्चप्राथमिक विद्यालयों में लागू करने का फैसला किया है। ऐसा करने से छात्रों व उनके पैरेंट को पढ़ाई के दौरान स्थान बदलने में मदद करेगा।

वर्तमान में उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूलों में 1.8 करोड़ छात्र राज्यभर के 1.68 लाख स्कूलों में अध्ययन कर रहे हैं। यूपी में भाजपा की सरकार आते ही सरकारी स्कूलों में एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम लागू कर दिया गया। सरकार का यह फैसला प्राथमिक विद्यालयों और उच्च प्राथमिक विदयालयों में लागू किया जाएगा।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close