NewsPoliticsState

ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा उम्मीदवार बना सकती है बीजेपी, मंत्री बनाने की भी संभावना

नई दिल्ली । मध्यप्रदेश की सियासत में पिछले एक सप्ताह से चल रहा हाईवोल्टेज सियासी ड्रामा अब पटाक्षेप की ओर बढ़ता दिख रहा है। इस घटनाक्रम की एक अहम धुरी ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को गृहमंत्री अमित शाह के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया। इसके साथ ही अब मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार का गिरना तय हो गया है क्योंकि 20 से अधिक विधायक उनके समर्थक हैं और इनमें से ज्यादातर पहले ही बेंगलुरु पहुंच चुके हैं। ऐसा माना जा रहा है कि बीजेपी ज्योतिरादित्य सिंधिया को अपने कोटे से राज्यसभा का उम्मीदवार बनाएगी और बाद में उन्हें केंद्र में मंत्री बनाया जा सकता है।

मध्य प्रदेश के सियासी हलके में आज सुबह से ही चर्चा थी कि अपने पिता माधव राव सिंधिया की 75वीं जन्मतिथि पर ज्योतिरादित्य कुछ बड़ा ऐलान कर सकते हैं। कमलनाथ और दिग्विजय सिंह से नाराज चल रहे सिंधिया सूबे में सरकार बनने के बाद से ही अपनी उपेक्षा से आहत थे। पिछले सप्ताह प्रदेश में राजनीतिक उठापटक शुरू होने के बाद प्रधानमंत्री और सिंधिया के बीच बातचीत कराने की कोशिशें शुरू हुईं। सूत्रों का कहना है कि सिंधिया के ससुराल पक्ष बड़ौदा राजपरिवार ने उनको भाजपा से संपर्क के लिए तैयार किया। इसके बाद आगे की पटकथा तैयार हुई।

बीजेपी सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि विमान से सोमवार को एचएएल हवाई अड्डा पहुंचने के बाद मध्य प्रदेश में सत्तारूढ़ कांग्रेस के विधायकों को एक रिजॉर्ट ले जाया गया है। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि राज्य में कमलनाथ के नेतृत्व वाली सरकार को गिराने के लिए भाजपा उसके विधायकों के खरीद-फरोख्त के प्रयास कर रही है।
सोमवार देर रात बुलाई गई कैबिनेट बैठक के बाद कई मंत्रियों ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को अपना इस्तीफा सौंप दिया था। वहीं, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोनिया गांधी से मुलाकात की थी।

Related Articles

Back to top button
Close
Close