National

गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर-“कलाकार, कलाकारों के द्वारा”

राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय लॉकडाउन के दौरान अपने संग्रह की कुछ देखी गयी और कुछ अनदेखी दुर्लभ कलाकृतियों को दिखाने के लिए वर्चुअल कार्यक्रम "एनजीएमए के संग्रह से" प्रस्तुत करेगा , इस सप्ताह की थीम ‘कलाकार, कलाकारों के द्वारा’ रवींद्रनाथ टैगोर को समर्पित है

blank

नई दिल्ली । कोविड – 19 की वजह से राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय अस्थायी रूप से बंद है लेकिन कोविड – 19, लॉकडाउन के दौरान प्रदर्शिनी आयोजन के जरिए लोगों से जुड़ने के उत्साह को कम करने में असफल रहा है। राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय, नई दिल्ली गर्व के साथ वर्चुअल कार्यक्रम “एनजीएमए के संग्रह से” प्रस्तुत करेगा। यह वर्चुअल कार्यक्रम संग्रह की कुछ देखी गयी और कुछ अनदेखी दुर्लभ कलाकृतियों को दिखाएगा। ये कार्यक्रम एनजीएमए के प्रतिष्ठित संग्रहों से तैयार किये जायेंगे और विभिन्न साप्ताहिक / दैनिक विषयों पर आधारित होंगे।

इस सप्ताह की थीम “कलाकार, कलाकारों के द्वारा” है और यह गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर को समर्पित है। इस सप्ताह 7 मई को गुरुदेव की 159 वीं जयंती भी है और इसे हम मनाना भी चाहते हैं। आने वाले दिनों में कई और रोमांचक और विचारों को उद्वेलित करनेवाली थीम आएंगी। इन वर्चुअल कार्यक्रमों और प्रदर्शनियों के माध्यम से कला प्रेमियों, कलाकारों, कला पारखियों, छात्रों, शिक्षकों आदि को अपने घरों से दुर्लभ कलाकृतियों को देखने का अवसर मिलेगा।

राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय, नई दिल्ली ने इससे पहले कई वर्चुअल  प्रदर्शनियाँ प्रस्तुत की हैं जैसे जैमिनी रॉय और राजा रवि वर्मा आदि पर आधारित प्रदर्शनियाँ । संग्रहालय ने अंतर्राष्ट्रीय दिवसों जैसे अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस, अंतर्राष्ट्रीय नृत्य दिवस और अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस को मनाने के क्रम में स्थायी संग्रह भी साझा किए हैं। ये प्रदर्शिनियां एनजीएमए की वेबसाइट और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध हैं।

एनजीएमए के महानिदेशक श्री अद्वैत चरण गदनायक कहते हैं, “कोविड – 19  लॉकडाउन के कारण संग्रहालय दीर्घाओं के बंद होने से हमारी भावनाएं कमजोर नहीं पड़ी हैं और हमें अपने दर्शकों से दूर नहीं किया जा सकता। बल्कि, इसने हमें इंटरनेट के जरिए वेब और सोशल मीडिया के माध्यम से व्यापक स्तर पर विश्व के दर्शकों के साथ रोमांचक तरीके से जुड़ने का एक नया अवसर प्रदान किया है। दर्शक समुदाय हमारे सभी प्रयासों की सराहना कर रहे हैं और हम भविष्य में भी इसी तरह से काम करते रहने की उम्मीद करते हैं।”

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close