National

एमएसएमई को भुगतान में विलंब के मुद्दे के समाधान के लिए सरकार एक अलग योजना पर काम कर रही है : गडकरी

नई दिल्ली । केन्द्रीय एमएसएमई और सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री  नितिन गडकरी ने आज कहा कि सरकार एमएसएमई को भुगतान में विलंब के मुद्दे के समाधान के लिए एक अलग योजना पर काम कर रही है, जिसमें एमएसएमई को भुगतान के लिए एक समर्पित कोष तैयार किया जाएगा।

एमएसएमई को भुगतान में विलंब के मुद्दे पर टिप्पणी करते हुए श्री गडकरी ने कहा कि तत्काल भुगतान सुनिश्चित करने के लिए सभी प्रयास किए जाने चाहिए और सभी सरकारी विभागों को ऐसे दिशानिर्देश दे दिए गए हैं।

वह एमएसएमई पर कोविड-19 के प्रभाव के मुद्दे पर एसोसिएटेड चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स ऑफ इंडिया (एसोचैम) के प्रतिनिधियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद के दौरान बोल रहे थे। श्री गडकरी ने उद्योगजगत से आह्वान किया कि भले ही सरकार ने कुछ उद्योग क्षेत्रों को कामकाज शुरू करने की अनुमति दी है, लेकिन उद्योगों के लिए यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि कोविड-19 का प्रसार रोकने की दिशा में सभी रोकथाम संबंधी उपायों का पालन किया जाए। उन्होंने जोर दिया कि संगठनों को अपने कामगारों और अधिकारियों को खाद्य पदार्थों, आश्रय की उपलब्धता और सामाजिक दूरी के मानकों का पालन सुनिश्चित करना चाहिए।

उन्होंने जोर दिया कि घरेलू उत्पादन के माध्यम से विदेशी आयात के विकल्पों पर ध्यान केन्द्रित किए जाने की भी जरूरत है। उन्होंने उद्यमों से तकनीक का उपयोग करने का अनुरोध किया और उल्लेख किया कि औद्योगिक सुधार में शोध, नवाचार तथा गुणवत्ता में सुधार अहम भूमिका निभा सकते हैं।

केन्द्रीय मंत्री ने याद दिलाया कि जापान सरकार ने चीन से जापानी निवेश बाहर निकालकर कहीं अन्य जगह स्थानांतिरत करने के लिए अपने उद्योगों को विशेष पैकेज की पेशकश की है। उन्होंने कहा कि यह भारत के लिए एक विशेष अवसर है, जिसे भुनाया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि ग्रीन एक्सप्रेस हाईवे पर काम शुरू हो चुका है और उद्योग जगत के लिए औद्योगिक क्लस्टरों, औद्योगिक पार्कों, लॉजिस्टिक पार्कों में निवेश का अच्छा अवसर है। उन्होंने कहा कि मेट्रो शहरों के बजाय दूसरे क्षेत्रों में औद्योगिक क्लस्टरों का विस्तार किए जाने की जरूरत है। उन्होंने उद्योगजगत से सरकार के पास ऐसे प्रस्ताव भेजने का अनुरोध किया।

श्री गडकरी ने सभी संबंधित हितधारकों को मिलकर काम करने पर जोर दिया और कोविड-19 संकट के खत्म होने के बाद पैदा होने वाले अवसरों को भुनाने का आह्वान किया। उन्होंने सभी सेक्टरों से मुश्किल हालात में सकारात्मकता को बरकरार रखने का भी आह्वान किया।

उद्योग जगत के प्रतिनिधियों द्वारा उठाए गए कुछ मुद्दे और दिए गए सुझाव इस प्रकार हैं : प्राथमिकता के आधार पर ब्याज सहायता योजना का शुभारम्भ, उद्योगों के परिचालन की शुरुआत के साथ ही बाजारों को खोलना, उद्योगों को अतिरिक्त तरलता उपलब्ध कराने से संबंधित आरबीआई के दिशानिर्देशों का प्रभावी कार्यान्वयन आदि।

श्री गडकरी ने प्रतिनिधियों की तरफ से किए गए सवालों का जवाब दिया और सुझाव देने का अनुरोध किया। इसके साथ ही उन्होंने सरकार की तरफ से हर संभव सहायता का भरोसा दिलाया। उन्होंने बताया कि वह सभी समस्याओं के जल्द से जल्द समाधान के लिए संबंधित विभागों/ हितधारकों से बात करेंगे।

इस संवाद के दौरान एसोचैम के प्रतिनिधियों ने कुछ सुझावों के साथ ही कोविड-19 महामारी के बीच एमएसएमई के सामने आ रही विभिन्न चुनौतियों से संबंधित चिंताओं को उठाया और एमएसएमई सेक्टर को बनाए रखने के लिए सरकार से सहयोग करने का अनुरोध किया।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close