State

बीज एवं जिप्सम क्रय करते समय ही किसानों को मिलेगी सब्सिडी एट सोर्स

कृषि विभाग के दर्शन पोर्टल पर पंजीकृत अन्नदाता किसानों को राजकीय कृषि बीज भंडार से बीज एवं जिप्सम क्रय करते समय ही मिल सकेगा अनुदान.इस योजना का लाभ लेने वाले पहले किसान लाभार्थी बने रामसजीवन, पीओएस से बीज/जिप्सम खरीद पर मिला 251 रुपए सब्सिडी का लाभ .

  • कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने नई व्यवस्था का किया उद्गाटन, लाभार्थी किसानों को पीओएस के माध्यम से प्रदान किया सब्सिडी एट सोर्स

लखनऊ । अन्नदाता किसानों को कृषि निवेशों (बीज एवं जिप्सम) की खरीदारी के वक्त तत्काल सब्सिडी प्रदान करने के लिए योगी सरकार ने एक नई और क्रांतिकारी पहल की है। इसके तहत कृषि विभाग ने बुधवार को कृषि निवेशों को पॉइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीन के माध्यम से वितरित कराकर सब्सिडी एट सोर्स की व्यवस्था को लागू कर दिया है। कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने बटन दबाकर इस नई व्यवस्था का शुभारंभ किया। इस नई सुविधा से अब कृषि विभाग के दर्शन पोर्टल पर पंजीकृत अन्नदाता किसानों को राजकीय कृषि बीज भंडार से बीज एवं जिप्सम क्रय करते समय ही अनुदान एट सोर्स प्रदान कर दिया जाएगा। इससे किसानों को केवल कृषक अंश का ही भुगतान करना होगा। इस अवसर पर लाभार्थी किसानों को कृषि मंत्री ने पीओएस मशीन के द्वारा सब्सिडी एट सोर्स भी प्रदान की।

उत्तर प्रदेश कृषि विभाग अब पूरी तरह से डिजिटल
कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने बदलते भारत की एक तस्वीर रखी है। पीएम बनने का बाद ही उन्होंने कहा था कि भारत को हमें डिजिटल इंडिया बनाना है। भारत सरकार ने बीते 10 वर्ष में 23 लाख करोड़ रुपए लाभार्थियों को प्रदान किए हैं। उनके इसी विजन को सीएम योगी ने तेज गति से प्रदेश में इसका विस्तार किया है। उत्तर प्रदेश कृषि विभाग आज पूरी तरह से डिजिटल डिपार्टमेंट हो गया है। जब किसान भाइयों की गोष्ठियों में जाता था तब किसान भाइयों का सुझाव मिलता था कि बीज हम पूरा पैसा देकर खरीदते हैं, लेकिन अनुदान आने में 4-5 महीने की देरी हो जाती है। हम 2-3 साल से प्रयासरत थे कि ऐसी व्यवस्था बना दें ताकि किसान को अनुदान की राशि छोड़कर जितना कृषक अंश बनता है वही देना पड़े।

ये नई व्यवस्था आज शुरू हो गई है। दर्शन पोर्टल पर कुल 3 करोड़ 20 लाख किसान भाई हैं, जिनमें 2 करोड़ 22 लाख किसान भाई ऐसे हैं जो आधार कार्ड से जुड़े हुए हैं। इन्हें इसका सीधा लाभ मिलेगा। जैसा इस योजना के पहले लाभार्थी रामसजीवन को मिला है। उन्हें बीच के क्रय पर 251 रुपए की सब्सिडी का लाभ मिला। प्रदेश में लगभग 8 लाख किसान ब्लॉक पर बीज वितरण केंद्र से बीज लेते हैं। अब इन केंद्रों पर बीज खरीद पर किसानों को आधा पैसा ही देना होगा। वहीं जिप्सम में हम 75 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है। यह सुविधा सभी 75 जिलों के 826 विकासखंडों में प्राप्त होगी।

पारदर्शिता के साथ हर किसान तक पहुंच रहा योजना का लाभ
इस अवसर पर कृषि राज्य मंत्री बलदेव सिंह औलख ने कहा कि आज कृषि विभाग की योजनाओं का लाभ किसानों तक पहुंचाने के लिए क्रांतिकारी योजना लागू हो रही है। सरकार की प्राथमिकता है कि सभी योजनाओं का लाभ पारदर्शिता के साथ हर किसान तक पहुंचे। ये उसी का परिणाम है। सीएम योगी के नेतृत्व में 2017 के बाद से लगातार इस पर कार्य किया जा रहा है। हमारा प्रयास यही है कि सभी किसानों को उनकी मेहनत का फल और उनका हक दिलाया जाए।

वहीं, मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने कृषि विभाग को इस शानदार पहल के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि यह बहुत खुशी की बात है कि कृषि विभाग ने ऐसा कदम उठाया है, जिससे सीधे लाखों किसानों को फायदा पहुंचेगा। उन्होंने कहा कि किसानों के हितों को लेकर मुख्यमंत्री जी की सोच को धरती पर लाने का कदम उठाया जा रहा है। अब हमारे किसान भाइयों को जो सब्सिडी केंद्र और राज्य सरकार से दी जाती है वो तत्काल प्राप्त हो सकेगी। ये उत्तर प्रदेश में ईज ऑफ लिविंग को दर्शाता है।

VARANASI TRAVEL
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: