CrimeUttar Pradesh

सीबीआई का फर्जी डीआईजी बन,‍पुलिस को ठगने के चक्‍कर में फंसा,गिरफ्तार

निकला अलीगढ नगर निगम का ठेकेदार

मि‍र्जापुर ।खुद को सीबीआई का डीआईजी बताकर परिवार संग वध्यिंाचल दर्शन करने पहुंचे अलीगढ़ निवासी ठेकेदार को पुलिस ने शुक्रवार गिरफ्तार कर हवालात भेज दिया। ब्रह्मपुत्र मेल से पहुंचने पर कथित सीबीआई के डीआईजी का रिसीव करने पहुंचे सीओ सदर ने शक होने पर पूछताछ की, जिसमें सारा मामला खुला गया। आरोपित राजीव सिंह अलीगढ़ जिले के बन्नादेवी थाना क्षेत्र के सुखपुरी गांव का निवासी है। वह नगर निगम में ठेकेदारी करता है। दो दिन पहले वह अपने को सीबीआई के दल्लिी कार्यालय का डीआईजी बताकर मर्जिापुर एसपी को फोन किया, और बताया कि सपरिवार के साथ मां वध्यिंवासिनी का दर्शन पूजन करने आ रहा है। जिसके लिए व्यवस्था कर दी जाए। उसके झांसे में आकर एसपी ने नगर के पुतलीघर स्थित गेस्ट हाउस में ठहरने का प्रबंध कराया। शुक्रवार की सुबह ब्रह्मपुत्र मेल से पत्नी, मां व बेटी संग मर्जिापुर रेलवे स्टेशन पर उतरा,इसके बाद उसने दोबारा आईजी, एसपी व सीओ को काल कर बोला मैं स्टेशन पर पहुंच गया हूं, अबतक वाहन नहीं आया। तब तक सीओ सदर, कटरा कोतवाली पुलिस के साथ स्टेशन पर पहुंचे और उसे गेस्ट हाउस लेकर जाने लगे। तभी सीओ को उसकी गतिविधियों पर कुछ शक हुआ। शक के आधार पर पुलिस ने पूछताछ की तो उसने सच्चाई उगल दी। आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 419 व 420 के तहत केस दर्ज किया गया है। वहीं उसके परिवार वालों से पूछताछ की जा रही है। कोट खुद को सीबीआई का डीआईजी बताकर ठेकेदार अपने परिवार संग वध्यिंाचल दर्शन पूजन के लिए आया था। उसकी गतिविधियों पर शक होने पर पूछताछ के दौरान सच सामने आया। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। फिलहाल उसका कोई आपराधिक इतिहास नहीं है। संजय वर्मा, प्रभारी एसपी

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close