Uttar Pradesh

देवरिया की सड़के हुई जानलेवा, जनता बेहाल

देवरिया । देवरिया सलेमपुर मार्ग के सोनूघाट चौराहे से मात्र 5 किलोमीटर की दूरी पर महुआनी चौराहा स्थित है। कहने को तो वह बाईपास है लेकिन इन पांच किलोमीटर की सड़के बिलकुल ही जानलेवा है। सड़क पर 2-2 मीटर चौड़े और 2 फुट गहरे गढढ़े हमेशा किसी न किसी को हास्पीटल का रास्ता दिखा ही देती है। इस सड़क पर सैकड़ो ट्रक रोजाना आते जाते है, हजारो दो पहिया, चार पहिया वाहन अपने आप को सुरक्षित रख कर अपना वाहन चलाते है।
उप्र. के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा 15 जून तक गांव की सड़को को गढ्ढा मुक्त करने के आदेश को अंगुठा दिखाता यह सड़क जीता जागता नमुना है। जिले के लगभग दो सौ गांव जो मुख्य मार्गो से जुड़े है पूरी तरह गढ्ढो मे बदल गये है और आए दिन दुर्घटनाओं को न्योता देते रहते है। बरहज से देवरिया मार्ग पर स्थित करूअना चौराहे से बरहज की दूरी भी मात्र 5 किलोमीटर ही है। आए दिन इस पर भी दुर्घटनाए होती ही रहती है, विपक्षी पार्टियों के नेता इन सड़को पर धान रोप कर विरोध प्रदर्शन कर चुके है मगर प्रशासन है की आंखो पर पट्टी बांध कर सो रहा है।
जिले में हर साल सड़को के मरम्मत के नाम पर लोकनिर्माण विभाग, ग्रामीण अभियंत्रत विभाग, जिला पंचायत से लेकर क्षेत्र पंचायत तक इन सड़को के लिए टेंडर प्रक्रिया होती है। ठेकेदारों द्वारा कार्य तो होता है मगर उसकी गुणवत्ता देखने के लिए सम्बंधित विभाग का कोई अधिकारी कार्य की गुणवत्ता को देखने का प्रयास नही करता जिसका नतीजा यह होता है वो सड़के एक साल के अंदर ही बरसात के मौसम आते आते बड़ी बड़ी जलाशयों में बदल जाती है।
प्रांतीय खंड देवरिया अधिशासी अभियंता ने बताया की इस कार्ययोजना की स्वीकृति के लिए शासन को पत्र लिखकर भेजा गया है।
जनप्रतिनिधि भी गाहे बगाहे हर मौको पर शान से सरकार द्वारा प्रदेश में सड़को का जाल बिछाने का भाषण दिया जाता है सरकार की पीठ अपनी पीठ थपथपा लिया जाता है लेकिन सड़को की दशा पर कोई भाषण नही होता । जनता कहती है ऐ टुटी सड़के कमायी का मोटा जरिया बन गयी है। हर साल टेंडर, हर साल कमायी।
महुआनी चौराहे के तरफ जो सड़क जा रही है यह सड़क दो लोकसभा देवरिया व बांसगांव तीन विधानसभा क्षेत्रो को देवरिया सदर, बरहज, रामपुर कारखाना को जोड़ती है। लेकिन दुर्भाग्य है इन सड़को का। जिले के अधिकारी, जनप्रतिनिधि, सरकार की योजनाओं का गला घोंटकर कर मार दे रहे है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close