NationalState

कांग्रेस ने पहले भी की है ‘इन्हैरिटेंस टैक्स’ की वकालत, इसे लागू करना पार्टी की पुरानी इच्छा : मोदी

हरदा, सागर : ‘इन्हैरिटेंस टैक्स’ (विरासत कर) संबंधित कांग्रेस के एक नेता के विचार को लेकर देश भर में मचे विवाद के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि कांग्रेस की इस टैक्स को लागू करने की पुरानी इच्छा है, पार्टी इसकी पहले भी इसकी वकालत कर चुकी है और कांग्रेस इससे इंकार नहीं कर सकती।श्री मोदी मध्यप्रदेश के हरदा में बैतूल संसदीय क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। इसके कुछ ही देर पहले उन्होंने सागर संसदीय क्षेत्र में आयोजित चुनावी सभा में भी इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस को जम कर घेरा था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के ‘शहजादे’ के एक सलाहकार ने कहा है कि भारत में ‘इन्हैरिटेंस टैक्स’ लगना चाहिए, यानी आपके दादा-नाना ने जो कुछ भी बचाया है और उनके स्वर्गवास के बाद जो आपको मिलेगा, उसमें से आधा कांग्रेस सरकार हड़पना चाहती है। उन्होंने वहां उपस्थित जनसमुदाय से पूछा कि आपके माता-पिता ने जो छोड़ा है, उस पर आपका अधिकार है या नहीं।उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस बयान पर बवाल के बाद कह रही है कि ये उनके सलाहकार की व्यक्तिगत राय है। इसी क्रम में उन्होंने तथ्यों के हवाले से कहा कि 2011 में भी कांग्रेस ने इस टैक्स की वकालत की थी। तब के एक बड़े मंत्री ने प्लानिंग कमीशन में कहा था कि इस टैक्स पर विचार किया जाए। कांग्रेस की इस टैक्स को लागू करने की पुरानी इच्छा है। उससे कांग्रेस इंकार नहीं कर सकती।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे देश में आने वाली पीढ़ियों के लिए कुछ न कुछ छोड़ने की परंपरा है। हमारे पुरखे नाती पोते की शादी में काम आने के लिए पैसे बचाते हैं। उसे दशकों तक संभाल कर रखते हैं, मुसीबत में भी नहीं निकालते। जाएं तो अपने बच्चों के लिए कुछ छोड़ कर जाएं। अब ये (कांग्रेस) कह रहे हैं कि जो छोड़ोगो, उसका आधा हिस्सा हमारा होगा।उन्होंने कहा कि अब ये साफ हो गया है कि कांग्रेस का मंत्र है, कांग्रेस की लूट, जिंदगी के साथ भी, जिंदगी के बाद भी। इसीलिए कांग्रेस से बहुत सावधान रहना है।कांग्रेस के सलाहकार और इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के निदेशक सैम पित्रोदा ने इस कर के संबंध में सुझाव दिया था। उन्होंने कहा था कि अमेरिका में इस प्रकार के कर का प्रावधान है और भारत में भी इस पर बात होनी चाहिए।

प्रधानमंत्री ने अपनी दोनों सभाओं में आरक्षण के मुद्दे को लेकर भी कांग्रेस को घेरा। उन्होंने कहा कि इनका हिडन एजेंडा खुल कर देश के सामने आ चुका है। सेक्युलिज्म के नाम पर वोटबैंक की राजनीति करने वाली कांग्रेस ने सामाजिक न्याय की मूलभूत भावना की हत्या कर दी है। खुल कर सामने आ गया है कि कांग्रेस दलितों, पिछड़ों और आदिवासियों से कितनी नफरत करती है। आजादी के बाद कांग्रेस का सबसे बड़ा विरोध बाबा साहब अंबेडकर ने किया था। वो दूरदर्शी थे, कांग्रेस कैसे देश को पतन के रास्ते पर ले जा रही है, उन्होंने देख लिया था।उन्होंने कहा कि जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनी थी तो उन्होंने सबसे पहले आंध्रप्रदेश में धर्म आधारित आरक्षण की शुरुआत की। कांग्रेस तब अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हुई, पर कांग्रेस अभी भी वो खेल खेलना चाहती है, चोरी छिपे और पर्दे के पीछे रह कर देशवासियों की आंखों में धूल झाेंककर वो खेल खेलना चाहती है।

कांग्रेस ने कर्नाटक में ओबीसी आरक्षण के कोटे से आरक्षण का हिस्सा छीनने के लिए पिछले दरवाजे से कर्नाटक में सभी मुसलमानों को ओबीसी बना दिया और ओबीसी आरक्षण छीनने का षड़यंत्र पक्का कर दिया। ये पूरे देश के ओबीसी समाज के लिए खतरे की घंटी है। अपने घोषणा पत्र में भी कांग्रेस धर्म आधारित आरक्षण की बात कर रही है।श्री मोदी ने कहा कि तेलंगाना के कांग्रेसी मुख्यमंत्री ने नाम लेकर कहा है कि वो मुसलमानों को आरक्षण दिलवा कर रहेंगे। कांग्रेस अपने वोटबैंक को खुश करने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है। कांग्रेस देश के लोगों की संपत्ति छीन के उसे भी अपने वोटबैंक को मजबूत करने की तैयारी में है। अगर गाड़ी-घर एक से ज्यादा होंगे तो वे कानूनन उसे जब्त कर लेगी। कांग्रेस कह रही है कि एक ही घर रख सकते हो, दो हैं तो वे अपने खास लोगों को बांटना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस आपकी संपत्ति छीनना चाहती है। उनके नेता एक्सरे कराने की बात करते हैं। आपके लॉकर में क्या है, उसे खोज कर निकालेंगे। अगर माताओं-बहनों ने कुछ पूंजी अपनी जरुरत के लिए बचाई होगी तो एक्सरे में वे वो भी खोजेंगे। गहने, महिलाओं का मंगलसूत्र, कांग्रेस सब कुछ खोजेगी और उसे छीन कर बांट देगी। कांग्रेस के नेता अपनी रैलियों में इसका खुला ऐलान भी कर रहे हैं।इसके पहले उन्होंने सागर में इसी मुद्दे को लेकर कहा कि उन्होंने कहा कि ये पूछते हैं कि मोदी को 400 पार क्यों चाहिए। मेरा जवाब है कि आप (कांग्रेस) जो राज्यों में हथकंडे अपना कर आरक्षण चोरी का खेल खेल रहे हो, ये खेल बंद करने के लिए मोदी को 400 पार चाहिए।उन्होंने कहा कि उन्हें दलितों, आदिवासियों और ओबीसी के आरक्षण की रक्षा करनी है। साथ ही उन्होंने कहा कि वे स्वयं उस समाज से आए हैं और ओबीसी को रक्षण देकर रहेंगे। (वार्ता)

Website Design Services Website Design Services - Infotech Evolution
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Graphic Design & Advertisement Design
Back to top button