Breaking News

कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों का मनोबल तोड़ें नहीं बढ़ाएं-सीएमओ

किसी भी कोरोना पॉजिटिव के परिजनों के साथ भेदभाव ठीक नहीं

महराजगंज । कहीं यदि कोई व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो उसके व उसके परिवार के साथ पास पड़ोस के लोगों द्वारा भेदभाव करना ठीक नहीं है। लोगों को चाहिए कि कोरोना पॉजिटिव व उसके परिवार का मनोबल तोड़ें नहीं बल्कि उसका मनोबल बढ़ाएं। जनपद के लोगों से उक्त अपील मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अशोक कुमार श्रीवास्तव ने की है। उन्होंने जनपद वासियों से कहा है कि यदि कहीं कोई व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिलता है तो उसके साथ उसके सभी परिवारीजनों का भी टेस्ट कराकर क्वारंटीन की सलाह दी जाती है। पास पड़ोस व मिलने जुलने वालों का भी टेस्ट कराया जाता है। लोग इससे घबराएँ नहीं,बल्कि डट कर मुकाबला करें ।
उन्होंने यह भी कहा है कि कोरोना वार्ड में जाने वाले या कोरोना पॉजिटिव हो जाने वाले स्वास्थ्यकर्मी के साथ सामाजिक स्तर पर भेदभाव नहीं होना चाहिए, क्योंकि किसी भी स्वास्थ्य कर्मी के साथ भेदभाव को बढ़ावा देना, कोविड -19 की लड़ाई को कमजोर बनाना है। कोरोना से बचाव अभियान के नोडल अधिकारी डॉ. आईए अंसारी ने कहा कि जनपद के नौतनवा क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग की एक महिला कर्मचारी कोरोना पाजिटिव मिली तो उसके परिवार के सभी सदस्यों व मिलने जुलने वालों की टेस्ट कराया गया। इससे डरने की जरूरत नहीं है। पास पड़ोस के लोग उसके परिवार का मनोबल न तोड़ें बल्कि उनके मनोबल को बढ़ाएं।

उससे अत्यंत निकट संपर्क में आने वालों को भी चाहिए कि रतनपुर सीएचसी के अधीक्षक से संपर्क करके अपनी जांच करा लें तथा जांच करवाने में सहयोग भी करें । कोरोना बीमारी से कोई भी प्रभावित हो सकता है। इससे डरने की जरूरत नही है, बल्कि मुकाबला करने की जरूरत है। इससे बचने के लिए प्रोटोकॉल का पालन करें। प्रोटोकॉल के मुताबिक सभी लोग एक दूसरे से कम से कम दो गज की दूरी बनाएं रखें। अपने घरों तथा आसपास सैनेटाइजेशन पर विशेष ध्यान दें । हर एक घंटे पर साबुन पानी से 60 सेकेंड हाथ धुलें। बहुत जरूरी हो तभी बाहर निकलें, यदि बाहर जाना हो तो मॉस्क या गमछा लगाना कत्तई न भूलें। यदि किसी को भी सर्दी खांसी, बुखार और सांस लेने में दिक्कत हो तो तत्काल सरकारी अस्पताल पर ही जांच कराएं

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close