Varanasi

वार्षिकोत्सव में बच्चों ने मोहा सबका मन

दुद्धी: प्राथमिक विद्यालय कलकली बहरा प्रथम में वार्षिकोत्सव समारोह का आयोजन किया गया। समारोह के मुख्य अतिथि सीओ प्रदीप सिंह चंदेल व खंड शिक्षा अधिकारी महेंद्र मौर्य द्वारा कार्यक्रम का शुभारंभ माता सरस्वती की प्रतिमा पर पुष्प अर्पण और दीप प्रज्वलन के साथ किया गया। बच्चों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति की गई। स्वागत नृत्य, देशभक्ति के कार्यक्रम व नृत्य, बेटियों की शिक्षा का अलख जगाता नृत्य, लोकनृत्य कर्मा और झूमर आदि कार्यक्रमों ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

मुख्य अतिथि श्री चंदेल ने बच्चों , अभिभावकों तथा शिक्षकों को अभिप्रेरित करते हुए कहा कि समाज के प्रत्येक व्यक्ति पर दो ऋण ऐसे होते हैं जिनसे व्यक्ति कभी भी उऋण नहीं हो सकता: एक ऋण है माता-पिता का तथा दूसरा है गुरु का, जिनके आशीर्वाद व मार्गदर्शन में रहकर ही व्यक्ति प्रगति की ओर उन्मुख रहकर अभीष्ट लक्ष्य प्राप्त करता है। परिश्रम के द्वारा ही सफलता अर्जित की जा सकती है उसका कोई संक्षिप्त रास्ता नहीं। अत: परिश्रम करके जीवन में नवीन आयाम स्थापित करें।

वार्षिकोत्सव में बच्चों ने मोहा सबका मन
वार्षिकोत्सव में बच्चों ने मोहा सबका मन

खंड शिक्षा अधिकारी श्री मौर्य ने बच्चों का उत्साहवर्धन करते हुए शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक निपुण भारत मिशन के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए प्राथमिक विद्यालय कलकलीबहरा प्रथम के समस्त बच्चों और शिक्षक/ शिक्षिकाओं को बधाई देते हुए निपुण भारत मिशन के अंतर्गत कक्षा एक से तीन हेतु निर्धारित निपुण लक्ष्य को निपुण लक्ष्य ऐप से सफलतापूर्वक अर्जित कर निपुण छात्र तथा निपुण विद्यालय होने का गौरव प्राप्त करने पर सभी को प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। सामुदायिक सहभागिता तथा अभिभावक आत्मीयता का अद्भुत समागम देखकर मुक्त कंठ से समुदाय की प्रशंसा की। जिनके साझा प्रयासों द्वारा विद्यालय में नामांकित प्रत्येक छात्र-छात्रा को आई कार्ड वितरित किया गया।इस दौरान बच्चों के माताओं द्वारा लोकनृत्य कर्मा तथा झूमर की अनुपम प्रस्तुति की गई। जिन्होंने सबका मन मोह लिया।

इस अवसर पर पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष राजकुमार अग्रहरि, समाज सेवी बालकृष्ण जायसवाल,अधिवक्ता अरुणोदय जौहरी, एआरपी संतोष सिंह तथा श्रवण कुमार, ग्राम प्रधान सुरेश चंद, एसएमसी अध्यक्ष शीला देवी, संगीता देवी, सहायक अध्यापिका सरिता , शिक्षामित्र लक्ष्मी पुरी सिंह, अविनाश कुमार गुप्ता समेत जनेवा देवी, जगती देवी , अनारो देवी, रंजन कुमार व मुस्कान,सुशीला समेत सैकड़ो बच्चे व अभिभावक उपस्थित रहे।

रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा भारतीय सभ्यता के कालखंड का अहम पड़ाव: मुर्मु

ज्ञानवापी : व्यासजी के तहखाने में पूजा की अनुमति मिली

VARANASI TRAVEL VARANASI YATRAA
SHREYAN FIRE TRAINING INSTITUTE VARANASI

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: