Politics

छत्तीसगढ़ सरकार की बदइंतजामी ने ली हिंदू श्रद्धालुओं की जान- सिद्धार्थ नाथ सिंह

छत्तीसगढ़ सरकार हिंदू धार्मिक आयोजनों के प्रति उदासीन . यूपी को राजनीतिक पर्यटन का अड्डा बनाने वाले कांग्रेस के भाई-बहन छत्तीसगढ़ कब पहुंचेंगे- सिद्धार्थ नाथ 

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ मंत्री एवं सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने छत्तीसगढ़ राज्य के जशपुर में एक धार्मिक जुलूस के दौरान एक कार द्वारा अनेक लोगों को कुचल कर मार देने की घटना पर दुःख व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से दोषी चालक की तुरंत गिरफ़्तारी और मृतकों और घायलों के लिए सहायता की मांग की है। उन्होंने कांग्रेस के भाई-बहन राहुल गाँधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से सवाल किया है कि वे अपने मुख्यमंत्री के साथ वहां कब पहुँच रहें हैं।

इस दहला देने वाली घटना में एक एसयूवी दशहरा के जुलूस में शामिल भीड़ को कुचलते हुए जिसमे कम से कम चार व्यक्तियों की मौत हो गयी और बीस से अधिक व्यक्ति घायल हो गए। इस घटना पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस दौरान साफ़ नज़र आ रहा है कि इतने महत्वपूर्ण दशहरा आयोजन में छत्तीसगढ़ सरकार ने पुलिस एवं यातायात का उचित प्रबंध नहीं किया था। यह पूरे तौर पर स्थानीय प्रशासन की बदइंतजामी का नतीजा था जिसमे निर्दोष श्रद्धालुओं की मौत हो गई।

सिद्धार्थनाथ सिंह ने इसकी कड़ी निंदा करते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से पूछा है कि हिन्दू आयोजनों के प्रति वहां की सरकार उदासीन क्यों रहती है। उत्तर प्रदेश में कुछ भी हो जाता है तो वहां पूरी कांग्रेस पहुँच जाती है। उन्होंने कहा अब यह भी देखना है कि मृतकों के परिवारों और घायलों के लिए वहां की कांग्रेस सरकार क्या करती है।

उन्होंने कहा कि राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश को तो अपने ‘राजनीतिक पर्यटन’ का अड्डा बना लिया है लेकिन छत्तीसगढ़ और राजस्थान में दलितों और किसानों पर अत्याचार से मुँह फेर कर रह जाते हैं। प्रदेश के वरिष्ठ मंत्री ने कहा कि अब देखना है कि इतनी गंभीर घटना के बाद कांग्रेस के दोनों नेता वहां कब पहुँचते हैं।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close