Uttar Pradesh

बीडीओ के दो भाइयों के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में केस दर्ज

महराजगंज। निचलौल ब्लॉक के ग्राम पंचायत कटहरी खुर्द, पैकौली कलां और बीसोखोर में मनरेगा के धन के गलत इस्‍तेमाल किए जाने के मामले में शासन के निर्देश पर निचलौल के निलंबित बीडीओ के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है। बीडीओ निचलौल अनिल कुमार यादव की तहरीर पर पुलिस ने शनिवार को निलंबित बीडीओ प्रमेन्द्र पांडेय व आपूर्तिकर्ता फर्म तथा बीडीओ के दो भाइयों के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में केस दर्ज किया है।
शासन के निर्देश पर बीडीओ अनिल कुमार यादव द्वारा निचलौल थाने में दी गई तहरीर में आरोप लगाया गया है कि बीडीओ प्रमेन्द्र पांडेय ने गांवों के विकास के लिए आए धन का सात लाख रुपये अपने दो भाई अनिल पांडेय व सुरेन्द्र पांडेय के खाते में ट्रांसफर किया था। निचलौल ब्लाक के ग्राम पंचायत पैकौली कला,कटहरी खुर्द व बीसोखोर में बिना काम कराए धन की निकासी की जांच में पूरा मामला प्रकाश में आया था। इन ग्राम पंचायतों में हुई धांधली की शिकायत पर सीडीओ व डीडीओ की जांच में धांधली की पुष्टि हुई थी। इस मामले में छह मनरेगा कर्मचारियों की सेवा समाप्ति व तीन ग्राम सचिवों को निलंबित किया गया था। बाद में बीडीओ प्रमेन्द्र पांडेय को डीएम ने निलंबित कर दिया था। सरकारी धन के निजी उपयोग के मामले में निलंबित बीडीओ प्रमेन्द्र पांडेय,उनके भाई अनिल कुमार पांडेय और सुरेन्द्र पांडेय तथा कुशवाहा ईंट उद्योग निचलौल के खिलाफ केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी गई है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close