Uttar Pradesh

चेहल्लुम जुलूस पर प्रतिबंध, चौक पर नहीं होगा फातेहा-नियाज़-सीओ

कॅरोना के मद्देनजर एसडीएम व सीओ ने पीस कमेटी की बैठक में दिए निर्देश

दुद्धी, सोनभद्र – वैश्विक महामारी कॅरोना के चलते इस बार चेहल्लुम के त्योहार में कोई कार्यक्रम सार्वजनिक रूप से नही होगा। चौकों पर स्थापित किये जाने वाले छोटे-बड़े ताजियों को जहां प्रतिबंधित कर दिया गया है वहीं ढोल-ताशे भी नही बजेंगे। शासन द्वारा प्रदत्त यह फरमान उपजिलाधिकारी दुद्धी रमेश कुमार ने बुधवार को पीस कमेटी की बैठक में सुनाते हुए मुस्लिम बंधुओं से कैरोना महामारी के दौर में सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि यह आपके जागरूकता और सहयोग की ही देन है कि कॅरोना काल में आमजन ईद, बकरीद और मुहर्रम जैसे बड़े त्योहार सादगी से मनाए हैं। प्रशासन आपसे शासन की मंशा के अनुरूप ही इस त्योहार को मनाने की अपील करती है।

पुलिस उपाधीक्षक राम आशीष यादव ने कॅरोना के इस दौर में शासन से प्राप्त निर्देशों का हवाला देते हुए कहा कि चेहल्लुम में केवल उन्हीं परंपराओं की इजाजत है जो आप अपने घर के अंदर एकांतवास लेकर करें। सार्वजनिक रूप से अदा की जाने वाली हर कार्यक्रम पर प्रतिबंध रहेगा। इसके तहत ढोल-ताशा बजाना, लाठी-डंडा खेलना,जुलूस की शक्ल में क़ब्रिस्तान जाना या किसी भी प्रकार की जुलूस का नगर में भ्रमण आदि पर पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा। अधिकारीद्वय ने बैठक में मौजूद सदर मु.शमीम अंसारी को केंद्रीय अखाड़ा कमेटी सहित अन्य मुहर्रम कमेटियों और अखाड़े के उस्तादों को अवगत कराते हुए तत्काल प्रभाव चेहल्लुम पर अदा की जाने वाली सभी सार्वजनिक कार्यक्रमों को निरस्त कराने की बात कही। प्रभारी निरीक्षक पंकज सिंह ने अधिकारियों द्वारा दिये गए निर्देश पर उपस्थितजनों से सहयोग करने की अपील की। साथ ही शासन-प्रशासन के निर्देश से परे रहकर कार्य करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही अमल में लाने की बात भी कही। इस अवसर पर दुद्धी जामा मस्जिद के सदर मोहम्मद शमीम अंसारी, डीसीएफ चैयरमैन सुरेंद्र अग्रहरि, समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता जुबेर आलम, केंद्रीय अखाड़ा कमेटी के पूर्व सदर एजाजुल हुदा, उस्ताद शरफू खान, जोखन खलीफा, हाजी जियारत अली, अलीमुद्दीन, मन्नू आदि उपस्थित रहे।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close