NewsPoliticsState

योगी सरकार के तीन साल पर अखिलेश यादव बोले- मुसलमानों के उत्पीड़न में नंबर वन

लखनऊ । समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार के तीन साल पूरे होने पर हमला किया है। अखिलेश ने खराब स्वास्थ्य, रेप, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, घोटाले में, जातिवाद को बढ़ावा देने में, जाति के आधार पर ट्रांसफर पोस्टिंग और अल्पसंख्यकों के उत्पीड़न व मुसलमानों के उत्पीड़न में नम्बर वन करार दिया है।

अखिलेश यादव ने प्रदेश सरकार पर सिलसिलेवार कई हमले बोले। उन्होंने कहा कि सरकार घोर जातिवादी तरीके से कार्य कर रही है। समाजवादियों पर जाति का झूठा आरोप लगाने वाले भाजपाई सबसे बड़े जातिवादी निकले। इस सरकार के हर कार्य में घोर जातिवाद दिखाई दे रहा है। आज जाति के नाम पर पोस्टिंग, जाति के नाम पर इलाज, जाति के नाम पर मुकदमे, और जाति के नाम पर एनकाउंटर हो रहे हैं। यही नहीं सरकारी कर्मचारियों को जाति देखकर नौकरी से बर्खास्त किया जा रहा है। बीजेपी सरकार में कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त बताते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में दिनदहाड़े हत्याएं, लूट और बलात्कार हो रहे हैं। बहन बेटियों की इज्जत आबरू सुरक्षित नहीं है। महिला उत्पीड़न के मामले में यूपी देश में नंबर एक है।
उत्तर प्रदेश आज भ्रष्टाचार, बेरोजगारी,अपराध, फर्जी एनकाउंटर, महिला उत्पीड़न, खराब स्वास्थ्य सेवाएं में देश में नंबर एक पर पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार ने प्रदेश को विकास का रास्ता दिखाया था। यूपी में पहले कभी भी कोई प्रोजेक्ट समय से नहीं पूरा होता था। लेकिन सपा सरकार ने मेट्रो, एक्सप्रेस वे, कैंसर हॉस्पिटल, स्कूल अस्पताल, सड़क समेत तमाम विकास परियोजनाओं को समय से पहले पूरा करने का काम किया।

उन्होंने कहा था कि मुख्यमंत्री योगी ने गोरखपुर और झांसी में मेट्रो ट्रेन चलाने का वादा किया था लेकिन अभी तक काम नहीं शुरू करा पाए हैं। उन्होंने कहा कि आज गोरखपुर में योगी मेट्रो नहीं चला पाए तो समाजवादी लोग इसके बारे में विचार करेंगे। अखिलेश ने कहा कि यह सरकार लखनऊ मेट्रो को एक इंच भी आगे नहीं बना पाई और मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि उन्होंने 4 शहरों में मेट्रो सेवा शुरू की। समझ में नहीं आता कितना झूठ कहां से बोल लेते हैं।

इसी तरह से पूर्वांचल एक्सप्रेस वे परियोजना के लिए हमने प्रदेश सरकार से बजट देकर जमीन खरीदी, एलाइनमेंट कराया, टेंडर कराया था । लेकिन इस सरकार ने अपने लोगों को एडजस्ट करने के लिए टेंडर निरस्त किया, पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के मानकों के साथ समझौता किया और पूर्वांचल एक्सप्रेस वे अपनी उपलब्धि बता रहें हैं जबकि सभी लोग जानते हैं कि यह परियोजना समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस के नाम से हमारी सरकार ने शुरू की थी। इसी तरह से मेडिकल कॉलेज बनाने के नाम पर भी झूठ बोल रहे हैं।

मुख्यमंत्री जी अभी तक एक भी मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास करके काम पूरा नहीं करा पाए हैं और बता रहे हैं कि उन्होंने 29 मेडिकल कॉलेज बना दिए। यादव ने कहा कि भाजपा सरकार ने तीन साल में अभी कोई एक ऐसा काम नहीं किया है, जिसे उन्होंने खुद शुरू करके पूरा किया हो। श्री यादव ने कहा कि भाजपा सरकार गन्ना किसानों के भुगतान की बात तो बता दी है लेकिन यह नहीं बताती कि किसानों का गन्ने का कितना मूल्य बकाया है।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में चीनी मिलों पर किसानों का करीब 12 हजार करोड रुपया बकाया है लेकिन यह सरकार इसे नहीं बताती है। श्री यादव ने यह भी कहा कि सपा सरकार में कोई चीनी मिल बंद की गई थी। उत्तर प्रदेश में आजादी के बाद सबसे ज्यादा चीनी मिल समाजवादी सरकार में नेताजी मुलायम सिंह यादव ने लगाने का काम किया था। पिछली सरकार में हमने कई चीनी मिलों को चलाने का काम किया।

अखिलेश ने कहा कि किसान और नौजवान इस सरकार से त्रस्त है। भाजपा सरकार पिछले तीन सालों से लोगों को सपने दिखा रही है। फसलों की कीमत न मिल पाने और कर्ज से दबा किसान लगातार आत्महत्या कर रहा है। प्रदेश में सिर्फ महोबा जिले में 66 किसानों ने आत्महत्या कर ली है। लेकिन इस सरकार ने कोई मदद नहीं की। पिछले महीने समाजवादी पार्टी ने 14 एमएलसी और विधायकों को भेजकर किसानों की मदद की। अखिलेश ने कहा कि इस सरकार में अल्पसंख्यकों का भी बड़े पैमाने पर उत्पीड़न हो रहा है। उनमें भी मुसलमानों का सर्वाधिक उत्पीड़न हो रहा है।

अखिलेश ने कहा कि यह सरकार वन ट्रिलियन एकोनोमी की बात करती है लेकिन उसे बताना चाहिए कि वन ट्रिलियन इकोनामी बनाने के लिए कितना सरकारी निवेश हो रहा है और कितना निवेश निजी क्षेत्र में हो रहा है। प्रदेश सरकार ने दो बार लखनऊ में इन्वेस्टर्स समिट कर बहुत प्रचारित किया कि निवेश आएगा लेकिन सरकार यह नहीं बता पा रही कि अभी तक कितना निवेश आया। यह बताना चाहिए कि सरकार ने निवेश का कितना प्रस्ताव फाइनल किया और निवेशकों को किस बैंक से कर्ज़ मिला।

अखिलेश ने कहा कि 3 साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री को भाजपा का संकल्प पत्र पढ़ लेना चाहिए था कि उन्होंने क्या क्या वादे किए थे। सभी विश्वविद्यालयों को वाईफाई से जोड़ने की बात कही थी और अभी तक वह सिर्फ अपना मुख्यमंत्री आवास ही वाईफाई कर पाए। प्रदेश में छात्र-छात्राओं को लैपटॉप देने की बात कही थी, लेकिन किसी भी स्टूडेंट को एक लैपटॉप नहीं दिए।यूपी महिला उत्पीड़न के मामले में नंबर एक पर पहुंच गया और उनका एंटी रोमियो स्क्वाड पता नहीं कहां गायब हो गया। वादा किया था कि भ्रष्टाचार नहीं होने देंगे और आज हर स्तर पर भ्रष्टाचार चरम पर है। प्रदेश में भ्रष्टाचार इतना बढ़ गया है कि अब एक आईपीएस दूसरे आईपीएस पर आरोप लगाने लगे हैं।

Related Articles

Back to top button
Close
Close