State

माहवारी स्वच्छता और एनीमिया के बारे में प्रशिक्षित की गयीं किशोरियां

प्राथमिक विद्यालय बसहियां खुर्द पर आयोजित हुआ ऑनलाइन प्रशिक्षण ,करीब पांच दर्जन किशोरियों ने किया प्रतिभाग

महराजगंज। राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत माहवारी स्वच्छता एवं एनीमिया को लेकर ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें परतावल ब्लाक के ग्राम पंचायत बसहियां खुर्द की करीब पांच दर्जन किशोरियों ने प्रतिभाग किया।
प्राथमिक विद्यालय बसहियां खुर्द पर आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में परतावल सीएचसी के अधीक्षक डॉ. राकेश कुमार ने कहा कि कोरोना से बचने के लिये सभी लोग फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करें। महावरी स्वच्छता एवं एनीमिया को लेकर सचेत रहें।  मुख्य प्रशिक्षक कृष्ण राणावत ने कहा कि 10-19 वर्ष आयु में किशोरियों में विशेष शारीरिक परिवर्तन आता है। ऐसे समय में किशोरियों को विशेष तौर से सचेत रहने की आवश्यकता होती है। साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है।

कार्यक्रम का संचालन करते हुए राष्ट्रीय काशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के जिला समन्वयक शिवेन्द्र प्रताप श्रीवास्तव ने कहा कि किशोरियां जब भी सेनेटरी पैड के इस्तेमाल से पहले और इस्तेमाल के बाद हाथ जरूर धो लें। इस दौरान भी स्वच्छता कि विशेष जरूरत होती है, शारीरिक बदलाव जैसे मुद्दों पर वह काऊंसलर या अपने क्षेत्र के पियर एजुकेटर्स से जानकारी ले सकती हैं। आवश्यकता पड़ने पर वह आपको अस्पताल की भी राह दिखा देंगे। उन्होंने कहा कि कोविद-19 के चलते ही यह ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जा रहा है, ऐसे में सभी लोग मॉस्क लगाएं। एक एक घंटे पर साबुन पानी से 60 सेकेंड तक हाथ धुलें। किशोरियां एनीमिया को लेकर भी सतर्क रहें, एनीमिया की शिकायत हो तो एएनएम या आंगनबाड़ी केन्द्रों से मिलने वाले आयरन की गोलियां लेती रहें। यह भी कहा कि सभी किशोरियों कोरोना संक्रमण से बचने के लिए फिज़िकल डिस्टेंसिंग का पालन करें। सभी स्वच्छ पेयजल का सेवन करें।

परतावल ब्लाक की बाल विकास परियोजना अधिकारी निरजा गुप्ता ने कहा कि आंगनबाड़ी केन्द्रों से मिलने वाले पोषाहार से विभिन्न प्रकार के व्यंजन बनाकर सेवन करें। सभी लोग अपने स्वास्थ्य को लेकर सतर्क रहें। कार्यक्रम में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पूनम शुक्ल ने गांव की किशोरियों को प्रशिक्षण में प्रतिभाग करने के लिए उनके घर से बुलाया, फिज़िकल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए किशोरियों का हाथ धुलवाया तथा ‘सुमन-के’ विधि से हाथ धुलने का तरीका भी बताया। सभी को दूर दूर बैठाने का प्रयास किया। कार्यक्रम में मुख्य सेविका सीमा दुबे,क्षमा त्रिपाठी, सुधा पांडेय, डीपीएम रिपुंजय पांडेय,आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पूनम शुक्ला, धनलक्ष्मी व काऊंसलर अनिरूद्ध गुप्ता ने विशेष सहयोग किया। प्रशिक्षण में प्रतिभाग करने वाली किशोरियों में साक्षी, सपना,काजल, प्रीती,ज्योति, रिंकू,मनोरमा,आराधना,खुशबू, सुमन,आशा,शादिया खातून, रागिनी,नबीसुननिशा, सीमा, निक्की, गुड़िया, दुर्गा आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहीं।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close